National Wheels

#WCR : 180 किमी की रफ्तार से दौड़ी वंदेभारत-2

#WCR : 180 किमी की रफ्तार से दौड़ी वंदेभारत-2

आरडीएसओ टीम के नेतृत्व में पमरे की टीम द्वारा कोटा मंडल में किया जा रहा गति परीक्षण।

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेल जोन का नाम 26 अगस्त 2022 को भारतीय रेलवे में ऐतहासिक तौर पर जुड़ गया। जोन कोटा मंडल में कोटा-नागदा रेलखण्ड पर वन्दे भारत ट्रेन का स्पीड ट्रायल 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहा है। इसी गति परीक्षण के दौरान आज 26 अगस्त को भवानीमंडी से कोटा तथा कोटा से घाट का बराना के बीच कुछ रेल सेक्शनों में वंदे भारत ट्रेन के रैक को लोड रहित स्थिति में 180 किमी/प्रति घण्टे की रफ्तार पर चलाकर परीक्षण किया गया।

उल्लेखनीय है कि 24 अगस्त को कोटा स्टेशन पर स्पीड ट्रायल के लिए वन्दे भारत ट्रेन का रैक पंहुचा था। इस वन्दे भारत ट्रेन की प्रारंभिक जाँच के दौरान वॉशिंग पिट में धुलाई तथा साफ-सफाई की गयी। इसके अलावा ट्रेन के सभी प्रकार के इंस्ट्रूमेंट एवं पैनल की भी जाँच की गयी। वन्दे भारत-2 ट्रेन का कोटा-नागदा रेलखण्ड पर आज दिनांक 26 अगस्त 2022 को विभिन्न स्पीड के स्तर पर स्पीड ट्रायल किया गया । इस वन्दे भारत ट्रेन का स्पीड ट्रायल आरडीएसओ, लखनऊ टीम की उपस्थिति में किया जा रहा है।

पश्चिम मध्य रेलवे के नागदा-कोटा-सवाई माधोपुर (अप और डाउन लाइन पर) रेल खंड पर वंदे भारत ट्रेन सेट का विस्तृत ऑसिलेशन गति परीक्षण किया जा रहा है । आरडीएसओ (अनुसंधान, अभिकल्प और मानक संगठन) की टीम एक नई डिजाइन वाली वंदे भारत ट्रेन सेट के साथ 180 किमी प्रति घंटे की अधिकतम परीक्षण गति के साथ ट्रेन सेट के 16 डिब्बों के प्रोटोटाइप रेक के विस्तृत ऑसिलेशन परीक्षण का आयोजन कर रही है।

26 अगस्त 2022 को कोटा मण्डल में विभिन्न चरणों में परीक्षण किए गए। पहले चरण का परीक्षण कोटा और घाटका बराना के बीच, दूसरा घाट का बराना और कोटा, तीसरा ट्रायल कुर्लासी और रामगंज मंडी के बीच डाउन लाइन पर नॉन-रिकॉर्डिंग, चौथा और पांचवां परीक्षण कुर्लासी और रामगंज मंडी के बीच डाउन लाइन पर एवं छठा परीक्षण रामगंजमंडी और लबान डाउन लाइन पर किया गया । इसी दौरान कई स्थानों पर गति के कांटे ने 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार को छू लिया।

वंदे भारत ट्रेन पूरी तरह से भारत में निर्मित है। यह सेमी-हाई-स्पीड ट्रेन है। वंदे भारत ट्रेन सेल्फ प्रोपेल्ड इंजन युक्त ट्रेन है अर्थात इसमें अलग से इंजन लगा हुआ नहीं होता। इसमें आटोमेटिक दरवाजे और वातानुकूलित चेयर कारों के कोच हैं और रिवॉल्विंग चेयर दी गई हैं जो 180 डिग्री तक घूम सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.