Nationalwheels

केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी बोले- प्रतिदिन 50 किलोमीटर बनेंगे राष्ट्रीय राजमार्ग, टूट जाएंगे पिछले सभी रिकार्ड

केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी बोले- प्रतिदिन 50 किलोमीटर बनेंगे राष्ट्रीय राजमार्ग, टूट जाएंगे पिछले सभी रिकार्ड

प्रत्येक पुरस्कार श्रेणी के अपने पूर्व-निर्धारित पात्रता मापदंड, आकलन मानदंड और स्कोरिंग शीर्षक थे

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने देश में विश्व स्तर सड़क बुनियादी ढांचे का निर्माण करने में योगदान के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग क्षेत्र के सभी हितधारकों की उनके योगदान के लिए सराहना की। उन्होंने कहा कि उनके प्रयासों से ही पिछले वर्ष प्रतिदिन 29 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का रिकॉर्ड निर्माण हुआ। कल नई दिल्ली में राष्ट्रीय राजमार्ग क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वालों को ‘राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कार’ प्रदान करते हुए श्री गडकरी ने यह विश्वास व्यक्त किया कि आने वाले दिनों में 50 किलोमीटर प्रति दिन का निर्माण लक्ष्य अर्जित होने से यह रिकॉर्ड भी पीछे रह जाएगा।
राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कारों को वर्ष 2018 में स्थापित किया गया था। वर्ष 2018 में  पुरस्कारों के पहले चक्र में पूरे देश की व्यापक भागीदारी रही। पहले चक्र की सफलता के बाद मंत्रालय ने राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कारों को एक वार्षिक आयोजन बनाने का निर्णय लिया। इसका उद्देश्य राजमार्ग विकास के साथ-साथ सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में निर्माण, परिचालन, रख-रखाव और टोलिंग चरणों में उल्लेखनीय प्रदर्शन कर रही कंपनियों को मान्यता देना है।
वार्षिक पुरस्कार कार्यक्रम शुरू करने का उद्देश्य देश में राष्ट्रीय राजमार्ग बुनियादी ढांचा के विकास में शामिल सभी हितधारकों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना का सृजन करना और देश में सड़क नेटवर्क के विस्तार के बड़े उद्देश्य में योगदान देना है। हर साल पुरस्कारों की घोषणा द्वारा मंत्रालय राष्ट्रीय राजमार्ग प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं में किए गए उल्लेखनीय कार्य को मान्यता देगा और सेवाओं की बेहतरीन गुणवत्ता देने के लिए अपने कार्य के दायरे से भी आगे काम करने वाली एजेंसियों की पहचान करेगा।
इस वर्ष, नामांकन 19 अगस्त, 2019 को शुरू किए गए। एक उद्देश्यपूर्ण और स्वतंत्र आकलन प्रक्रिया अपनाई गई, जिसमें उद्देशात्मक और मात्रात्मक आकलन मानदंडों को शामिल किया गया।
सात पुरस्कार श्रेणियां इस प्रकार हैं:-
1. परियोजना प्रबंधन में उत्कृष्टता
2. परिचालन और रखरखाव में उत्कृष्टता
3. टोल प्रबंधन में उत्कृष्टता
4. राजमार्ग सुरक्षा में उत्कृष्टता
5. नवाचार
6. चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में उत्कृष्ट कार्य तथा
7. हरित राजमार्ग।
प्रत्येक पुरस्कार श्रेणी के अपने पूर्व-निर्धारित पात्रता मापदंड, आकलन मानदंड और स्कोरिंग शीर्षक थे। इस वर्ष एनआईसी द्वारा डिजाइन किए गए ऑनलाइन आवेदन मंच पर इन सात श्रेणियों में कुल 104 आवेदन प्राप्त हुए थे। आवेदन पूरे देश से प्राप्त हुए। इनका तीन महीने में मूल्यांकन किया गया। प्रत्येक आवेदन को जांच के कई दौर से गुजरना पड़ा। पहले आवेदक द्वारा प्रस्तुत किए गए डाटा और दस्तावेजों का मूल्यांकन किया गया और फिर क्षेत्र पर दिए गए निष्कर्षों से प्रस्तुत किए गए डाटा की पुष्टि के लिए प्रशिक्षित विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा छांटी गई परियोजना के बारे में स्थलों का दौरा किया गया। छांटी गई 40 शीर्ष परियोजनाओं की विस्तृत परियोजना प्रोफाइल को सम्मानित जूरी पैनल के समक्ष प्रस्तुत किया गया। पैनल ने प्रत्येक परियोजना के सभी पहलुओं की जाँच की और सात श्रेणियों में 12 विजेताओं का चयन किया। फास्टैग प्रौद्योगिकी के सर्वोत्तम कार्यान्वयन का प्रबंध करने वाले टोल प्राधिकारियों को भी टोल संग्रह में अधिक स्वचालन के लिए सम्मानित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *