Nationalwheels

अंडर-19 क्रिकेट वर्ड कप में सेमीफाइनल में पाकिस्तान को रौदकर, फाइनल में पहुंचा भारत, यशस्वी ने अपने यश से दिलाई जीत

अंडर-19 क्रिकेट वर्ड कप में सेमीफाइनल में पाकिस्तान को रौदकर, फाइनल में पहुंचा भारत, यशस्वी ने अपने यश से दिलाई जीत

अंडर-19 क्रिकेट वर्ड कप में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को दी करारी शिकस्त

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
दक्षिण अफ्रीका में खेले जा रहे अंडर 19 वर्ड कप में मंगलवार को पोटचेफस्ट्रूम स्थित  सेनवेस क्रिकेट स्टेडियम भारतीय टीम पाकिस्तान से सेमीफाइनल का मुकाबला खेल रही थी, इस मैच में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को करारी हार दी। पाकिस्तान की अंडर-19 क्रिकेट टीम को 10 विकेट से हरा दियाॉ। इसके साथ ही उसने आईसीसी अंडर19 वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई। दक्षिण अफ्रीका के पोटचेफस्ट्रूम स्थित  सेनवेस क्रिकेट स्टेडियम पर खेले गए इस मैच में भारत को जीत के लिए 173 रन बनाने थे, जो उसने यशस्वी जायसवाल के शानदार शतक और दिव्यांश सक्सेना के अर्धशतक के दम पर 35.2 ओवर में बिना विकेट गंवाए ही हासिल कर लिया। यशस्वी मैन ऑफ द मैच चुने गए। पाकिस्तान के कप्तान रोहेल नजीर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया और मात्र 43.1 ओवर में 172 रन पर पूरी पाकिस्तान की टीम आल आउट हो गई। भारत को 50 ओवर में जीत के लिए 173 रन बनाने थे । भारत की तरफ से ओपनिंग करने आए यशस्वी जायसवाल और दिव्यांश सक्सेना ने बिना विकेट गवाएं भारत को आसान जीत दिलाई । दिव्यांश सक्सेना ने 99 गेंदों पर 6 चौके की मदद से नाबाद 59 रन बनाए। तो यशस्वी जायसवाल ने 113 गेंद पर 8 चौके और 4 छक्के की मदद से नाबाद 105 रन बनाए। उन्होंने छक्का मारकर अपना शतक पूरा किया। ऐसा कर उन्होंने वीरेंद्र सहवाग की याद दिला दी। भारतीय टीम ने मात्र 35.2 ओवर में बिना विकेट गंवाए 176 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया।टीम 43.1 ओवर में 172 रन पर पवेलियन लौट गई। उसकी ओर से ओपनर हैदर अली (56), रोहेल नजीर (62) और मोहम्मद हैरिस (21) ही दहाई का आंकड़ा छू पाए। दो बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल पाए। भारत की ओर से सुशांत मिश्रा सबसे सफल रहे। उन्होंने 28 रन देकर 3 विकेट लिए। उनके अलावा कार्तिक त्यागी और रवि बिश्नोई भी 2-2 विकेट लेने में सफल रहे। अथर्व अंकोलेकर और यशस्वी जायसवाल ने भी 1-1 विकेट लिए।
यशस्वी जायसवाल की कहानी
घरेलू क्रिकेट में एक शानदार प्रदर्शन से लेकर आईसीसी U19 वर्ल्ड कप तक शतक लगाने तक यशस्वी जायसवाल ने एक लंबा सफर तय किया है। वे अब टूर्नामेंट में शीर्ष स्कोरर बनकर दक्षिण अफ्रीका में तिरंगे का मान बढ़ा रहे हैं। हालांकि, यशस्वी जायसवाल पिछले साल के अंत में तब लोगों की आंखों का तारा बन गए थे, जब उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट में दोहरा शतक जड़ा था। वे 50 ओवर के क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने थे। बहुत ही साधारण परिवार से आने वाले यशस्वी के भारतीय क्रिकेट में उदय होने की कहानी भी काफी अद्भुत है।यशस्वी के पिछले रिकॉर्ड को देखें तो जब-जब भी उन्हें मौका मिला है उन्होंने खुद को साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। अब आईसीसी वर्ल्ड कप में शतक ठोककर फिर उन्होंने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया है। ऐसे में कहना गलत नहीं होगा कि वह दिन दूर नहीं जब फैंस उन्हें टीम इंडिया (सीनियर) के लिए बल्लेबाज़ी करते दिखेंगे।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *