Nationalwheels

सरकारों के किए पर तब्लीगियों ने फेर दिया पानी, मई की शुरुआत में #Chinavirus का दिख सकता है भयंकर रूप

सरकारों के किए पर तब्लीगियों ने फेर दिया पानी, मई की शुरुआत में #Chinavirus का दिख सकता है भयंकर रूप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देशभर की राज्य सरकारों के चाइना वायरस (कोरोना) के खिलाफ चल रहे युद्ध में जीती लग रही बाजी को तब्लीगियों ने पराजय के दरवाजे पर खड़ा कर दिया है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देशभर की राज्य सरकारों के चाइना वायरस (कोरोना) के खिलाफ चल रहे युद्ध में जीती लग रही बाजी को तब्लीगियों ने पराजय के दरवाजे पर खड़ा कर दिया है। आशंका कड़ी हो गई है कि तब्‍लीगी जमात की राष्ट्र विरोधी करतूतों के कारण चाइना वायरस का कहर लंबा खिंच सकता है। तब्लीगी मामले के उजागर होने के बाद पिछले चार दिनों में जिस तरह से संक्रमण के मामले देश में तेजी से उभरे और मौतों का आंकड़ा बढ़ने लगा है, उससे आशंका है कि देश में इसका सबसे बुरा वक्त अब मई के पहले हफ्ते में देखने को मिल सकता है। सरकारी पक्ष माने तो कोरोना के खिलाफ लड़ाई में काफी हद तक सफलता मिल रही थी, लेकिन तबलीगी जमात की कट्टरता और मनमानी ने सारी उपलब्धियों पर पानी फेर दिया है।
तब्‍लीगी जमात के कारण मरीजों की संख्या में तेज बढ़ोतरी
लॉकडाउन से मिल रही थी काफी हद तक सफलता
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के चेन को तोड़ने में वक्त लगता है। इसी आधार पर उसके अप्रैल के अंत तक चरण में पहुंचने का अनुमान है। भारत में गर्मी के बढ़ने और लोगों को बचने में ही टीबी के बीसीजी टीका लगे होने के कारण पड़ने वाले असर के बारे में उनका कहना था कि इस तरह की कई थ्योरी दी जा रही हैं, लेकिन उनकी वैज्ञानिक रूप से पुष्टि नहीं हुई है।
यह एक नया वायरस है और विभिन्न चीजों पर यह कैसे प्रतिक्रिया करता है, इसपर शोध होना बाकी है। वहीं लव अग्रवाल ने कहा कि तब्‍लीगी जमात के मरीजों को छोड़ दें तो लॉकडाउन के कारण कोरोना के वायरस के फैलने से रोकने में काफी हद तक सफलता मिली है। इसके परिणामस्वरूप नए मरीजों की बढ़ोतरी 50 फीसदी से अधिक तक कम रही है। आइसीएमआर ने अपने गणितीय माडलिंग में भी यही अनुमान लगाया है।
तब्‍लीगी जमात का 14 राज्‍यों में फैला का प्रसार
समस्या यह है कि तब्‍लीगी जमात के कोरोना से ग्रसित लोग सिर्फ कुछ स्थानों तक सीमित नहीं हैं। बल्कि 14 राज्यों अंडमान निकोबार, दिल्ली, असम, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में तबलीगी जमात से संबंधित कोरोना के मरीज मिले हैं। आने वाले समय में तब्‍लीगी जमात के कोरोना ग्रसित लोगों के संपर्क में आने वालों और फिर उनके साथ संपर्क में आने वालों में भी बहुत सारे इससे ग्रसित मिल सकते हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राज्यों के साथ मिलकर तब्‍लीगी जमात के संपर्क में आने वालों की पहचान करने के लिए सघन अभियान शुरू किया गया है और अभी तक उनसे संबंधित 9000 से अधिक लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *