Nationalwheels

देश की सबसे बड़ी खबर, #AyodhyaCase में सुप्रीम कोर्ट शनिवार सुबह 10.30 बजे सुनाएगा फैसला, देशभर में अलर्ट

देश की सबसे बड़ी खबर, #AyodhyaCase में सुप्रीम कोर्ट शनिवार सुबह 10.30 बजे सुनाएगा फैसला, देशभर में अलर्ट
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
देश के सबसे बड़े मुकदमें का फैसला सुप्रीम कोर्ट शनिवार की सुबह 10.30 बजे सुनाने जा रहा है. सुप्रीम कोर्ट की लिस्ट में इस मुद्दे को रखा गया है. न्यूज एजेंसी पीटीआई और एएनआई ने यह खबर जारी की है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव, डीजीपी समेत अन्य बड़े अफसरों से बातचीत के बाद अयोध्या मामले का फैसला सुनाने का निर्णय लिया है.
भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के दोनों बड़े अफसरों को तलब किया था. अफसरों से अयोध्या मामले में आने वाले फैसले के मद्देनजर अब तक उठाए गए कदमों और तैयारियों को लेकर सीजेआई ने जानकारी मांगी. सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी, डीजीपी ओम प्रकाश सिंह और न्यायमूर्ति रंजन गोगोई के साथ अयोध्या मामले की सुनवाई कर रही पीठ के पांच न्यायाधीशों में से अन्य दो न्यायमूर्ति एस.ए. बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण भी मौजूद रहे. बताते हैं कि अफसरों की ओर से यह आश्वस्त किया गया है कि पूरे प्रदेश में पुलिस और प्रशासन का पूरा अमला अलर्ट पर है.

सुप्रीम कोर्ट की काज लिस्ट, जिसमें इस मुद्दे को लगाया है-

सुप्रीम कोर्ट के फैसले को देखते हुए शुक्रवार को लखनऊ में एडीजी लॉ एंड आर्डर ने सुरक्षा मामले पर बैठक की. इसमें क्राइम, सोशल मीडिया, इंटेलीजेंस समेत पुलिस की सभी विंग के अफसर शामिल रहे. सतर्कता के साथ सोशल मीडिया पर विशेष निगाह रखने और भ्रामक व भड़काऊ संदेशों को पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं.
साथ ही पूरे प्रदेश के सभी जनपदों में बैठकों के साथ ही पुलिस ने संवेदनशील कस्बों, बाजार, शहरों आदि में फ्लैग मार्च कर लोगों को जागरूक किया. साथ ही हिदायत भी दी कि कोई भी ऐसा काम न करें जिससे दूसरे की भावनाएं आहत हों.
दिन में दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम सैयद अहमद बुखारी ने भी सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा जताते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को ही देर रात बैठक कर पुलिस के जिला स्तर तक के अफसरों को तैयारी मुकम्मल रखने के निर्देश दिए थे.
गौरतलब है कि मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने श्रीराम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुनवाई की है. रिपोर्ट के अनुसार शनिवार की सुबह 10.30 बजे संविधान पीठ इस मामले में अपना फैसला सुनाएगी. सुप्रीम कोर्ट में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ जमीन के मालिकाना हक का वाद दायर किया गया है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बहुमत से यह स्वीकार करने के बाद कि विवादित स्थल पर रामजन्मभूमि है, पूरे परिसर को तीन हिस्सों में विभाजित कर दिया था. इसके खिलाफ हिन्दू और मुस्लिम पक्षों ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की है. प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिनों तक लगातार मैराथन सुनवाई की है. सुनवाई करने वाली संविधान पीठ में जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नजीर भी हैं.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *