Nationalwheels

सीरिया में हार का बदला है श्रीलंका में हुआ हमला, पांच साल बाद दिखे बगदादी का ऐलान

सीरिया में हार का बदला है श्रीलंका में हुआ हमला, पांच साल बाद दिखे बगदादी का ऐलान
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
अमेरिकी सेनाओं के डर से सीरिया और ईराक में आईएसआएस के खात्मे के वक्त बिलों में छिपा बैठा खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का सरगना अबु बक्र अल-बगदादी पांच साल में पहली बार दिखाई दिया है. आतंवादी संगठन इस्लामिक स्टेट की ओर से सोमवार को जारी किए गए एक वीडियो में बगदादी बोलते हुए दिखाई दे रहा है. जुलाई 2014 के बाद यह पहला मौका है जब अबु बक्र अल-बगदादी किसी वीडियो में देखा गया.
आईएस सरगना अल-बगदादी का यह प्रोपेगेंडा वीडियो ट्विटर पर वायरल हो रहा है. अंतरराष्ट्रीय मामलों के जानकार पत्रकारों के मुताबिक बगदादी अरबी भाषा में बात कर रहा है. उसने दावा किया है कि श्रीलंका में हुए आतंकी हमले सीरिया के बागूज में उसकी सेना पर किए हमलों का जवाब है. यह सीरिया में आईएसआईएका आखिरी गढ़ है.
वीडियो में आईएस सरगना अल-बगदादी एक गद्दी पर बैठा हुआ है. वह काला और ग्रे रंग के कपड़े में है और उसके पीछे एक अत्याधुनिक हथियार भी रखा हुआ है. जिस कमरे में बगदादी बैठा है उसकी दीवारों पर सफेद रंग का पेंट है. कमरे में बगदादी के अलावा तीन अन्य लोग भी दिखे लेकिन वीडियो में इन तीनों के चेहरे धुंधले किए गए हैं.
वीडियो में बगदादी ने कहा, ‘बागूज की लड़ाई खत्म हो गई है.’ हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह वीडियो कब फिल्माया गया, लेकिन बगदादी ने पूर्वी सीरिया में आईएस के अंतिम गढ़ बागूज के लिए महीनों चली लड़ाई का जिक्र किया. यह लड़ाई पिछले महीने ही समाप्त हुई.
यह वीडियो अल-फुरकान मीडिया ने सोमवार शाम को जारी किया है. इससे पहले बगदादी को सालों पहले मोसुल मस्जिद में उपदेश देते हुए देखा गया था. साल 2015 में बगदादी के एक हवाई हमले में घायल होने की खबर आई थी. हालांकि, पिछले तीन वर्षों के दौरान कई बार उसके मारे जाने की भी खबरें भी मीडिया में आती रही हैं लेकिन बगदादी के नए वीडियो ने सुरक्षा एजेंसियों के लिए नई परेशानी खड़ी कर दी है.
भारत में भी आईएसआईएस के समर्थक लगातार पकड़े जा रहे हैं. दिल्ली से लेकर तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल में पिछले दिनों एनआईए ने आईएस समर्थकों को पकड़ा है. कश्मीर में अक्सर आईएस के झंडे लहराते दिखते हैं. श्रीलंका में हुए सीरियल धमाकों में भी आईएस का भारतीय कनेक्शन जुड़ता दिख रहा है. सुरक्षा एजेंसियां नए सिरे से इस पड़ताल में लगीं हैं कि कहीं भारत में इस संगठन के समर्थक धमाकों का कोई साजिश तो नहीं रच रहे हैं.
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *