Nationalwheels

35 किमी दूर बैठकर सूरत के इस डॉक्टर ने कर डाला ह्रदय का अॉपरेशन

35 किमी दूर बैठकर सूरत के इस डॉक्टर ने कर डाला ह्रदय का अॉपरेशन
अहमदाबाद। क्या आपने कभी सुना है कि किसी डॉक्टर ने दो-चार किमी दूर बैठकर किसी मरीज का सफलता पूर्वक अॉपरेशन कर दिया है. नहीं न, तो दिल थामकर यह खबर पढ़िए, ऐसा हुआ है और यह काम अमेरिका, ब्रिटेल या इजरायल जैसे तकनीकी रूप से दक्ष देशों में नहीं, बल्कि भारत में हुआ है. यह कारनामा करने वाले डॉक्टर डॉक्टर तेजल पटेल हैं.
डॉक्टर तेजल पटेल ने पूरे 35 किमी दूर बैठकर ह्रदय की सर्जरी करने का दावा किया है. वह गांधी नगर में अपनी टीम के साथ बैठकर अहमदाबाद के एक अस्पताल में ह्रदय रोग की सर्जरी कर एक नया रिकार्ड दर्ज कराया है. 35 किमी की दूर बैठकर अॉपरेशन करने का दुनियाभर में इकलौता मामला है. अब तक ऐसा कोई डॉ्कटर नहीं कर सका था.

 

अहमदाबाद के एपेक्स इन्स्टीट्यूट के चेयरमैन और चीफ इंटरवेंशन कार्डियोलोजिस्ट डॉक्टर तेजस पटेल गांधीनगर के अक्षरधाम में थे. जबकि मरीज 35 किलोमीटर दूर अहमदाबाद के एपेक्स हार्ट इन्सटीट्यू में भर्ती था. डॉ तेजस ने गांधीनगर के अॉपरेशन थियेटर में बैठकर ऑपरेशन करके उसके ह्दय में वाल्व लगाने का मिशनल पूरा किया. पूरा ऑपरेशन रोबोट से किया गया. डाक्टर तेजस पटेल ने दूर बैठकर इन्टरनेट के माध्यम से इस आपरेशन को संचालित करते रहे.
ह्दय की सफल सर्जरी के बाद डॉक्टर तेजस पटेल ने बताया कि रिमोट रोबोटिक पीसीआई का फर्स्ट-इन-हुमन माला इंटरवेंशन चिकित्सा में ऐतिहासिक उपलब्धि है। दुनिया भर में स्ट्रोक सहित दिल की बीमारियों के कारण हर साल लगभग 18 मिलियन मौते होती है.

दिल की बीमारियों और स्ट्रोक के मामले दुनियाभर बड़ी समस्या बन चुकी है. इन मामले में मरीज को जल्द से जल्द विशेष इलाज की जरुरत होती है. टेलीररोबोटिक्स में ऐसे मरीजों को इलाज उपलब्ध कराकर बचाने की क्षमता, जो अन्यथा संभव नहीं होता.
उन्होंने कहा कि टेली रोबोटिक कोरेनरी इंटरवेंशन दिल की बीमारियों के मामले में ग्रामीण एवं दूर-दराज के इलाकों तक आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराएगा, जो इन सेवाओं से वंचित है. उनका मानना है कि इस तकनीक से हर व्यक्ति को हर स्थान पर समय रहते विशेषज्ञ उपचार उपल्बध कराकर दिल की बीमारियों के इलाज में क्रांन्तिकारी बदलाव लाया जायेगा.
इस मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजयभाई रुपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन भाई पटेल तथा बोचासनवासी अक्षर पुरोषत्तम स्वामी नारायण संस्थान के संत पूज्यश्री ब्रह्मवीरस्वामी और ईश्वरचरणस्वामी उपस्थित थे.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *