Nationalwheels

सलामः आरपीएफ के बहादुर जवान जगबीर ने जान पर खेल बचाईं चार जिंदगियां

सलामः आरपीएफ के बहादुर जवान जगबीर ने जान पर खेल बचाईं चार जिंदगियां
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
रेलवे सुरक्षा बल के बहादुर कॉस्टेबल जगबीर सिंह राणा ने अदम्य हौसले का परिचय दिया है। राणा ने अपनी जान पर खेलकर एक महिला और तीन मासूम बच्चों की जिंदगी बचा ली। यही नहीं, बहादुर कॉस्टेबल के परिवार ने भी मानवता के प्रति नई मिसाल कायम की। परिवार के सदस्यों ने इस बहादुर कांस्टेबल के नेत्र दान किए।
बताते हैं कि 21 अप्रैल को दिल्ली डिवीजन के आदर्श नगर-आज़ादपुर रेल सेक्शन के सिगनल नं.07, 7/24 किलोमीटर पर ड्यूटी पर तैनात थे। रात करीब 21.30 बजे एक महिला तथा 3 बच्चे रेल पटरियों को पार कर रहे थे। उसी दौरान अप लाइन पर गाड़ी संख्या 14011 होशियारपुर एक्सप्रेस आ रही थी। महिला और उसके बच्चों पर खतरा भांपकर जगबीर सिंह राणा इसी दिशा में दौड़ पड़े। ट्रेन पहुंचने के पहले राणा महिला और बच्चों की जान बचाने में कामयाब रहे लेकिन इसके साथ ही मौत उन पर झपट्टा मारकर दौड़ पड़ी। राणा खुद को स्थिर कर पाते उसके पहले ही डाउन लाइन पर तेज़ गति से आ रही गाड़ी संख्या 12012 कालका शताब्दी की चपेट में आ गए। इससे घटनास्थल पर ही उनकी मृत्यु हो गई। हरियाणा के सोनीपत जनपद के जटोला गांव निवासी शहीद राणा के परिवार में उनकी पत्नी, स्कूल/कॉलेज में पढ़ रहे 2 पुत्र तथा 2 विवाहित पुत्रियाँ हैं।
रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुन कुमार तथा मंडल रेल प्रबंधक दिल्ली आरएन सिंह ने अपनी संवेदनाये भेजीं। रेलवे सुरक्षा बल परिवार को संकट की इस घड़ी में इस शोकसंतप्त परिवार की मदद करने तथा साथ देने का अनुरोध किया। इंस्पेक्टर जनरल रेलवे सुरक्षा बल वीके ढाका एवम् वरिष्ठ अधिकारी शहीद रेलवे सुरक्षा बल कांस्टेबल को श्रद्धांजली देने के लिए दयाबस्ती में उनके आवास पर भी पहुंचे।
दिल्ली मंडल के जनसंपर्क अधिकारी अजय माईकल ने बताया कि मेहनती तथा ईमानदार जगबीर सिंह राणा 27 जुलाई 1989 को रेलवे सुरक्षा बल में शामिल हुए थे। इनकी सराहनीय सेवाओं को ध्यान में रखते हुए इन्हें दो बार रेल राज्य मंत्री तथा मंडल रेल प्रबंधक पुरस्कार भी प्राप्त किया था।

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *