Nationalwheels

#Bhutan में भी चलेगा #RuPay कार्ड, दो दिनी दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी ने किया लॉच, कई ऐलान भी

#Bhutan में भी चलेगा #RuPay कार्ड, दो दिनी दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी ने किया लॉच, कई ऐलान भी
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को भूटान यात्रा पर पहुंचे हैं. उन्होंने भूटान में RuPay कार्ड को लांच किया है। इससे भूटान जाने वाले भारतीय लोगों को डिजिटल भुगतान, व्यापार तथा पर्यटन में सुविधा होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी साझा आध्यात्मिक विरासत और मजबूत होंगे. लोगों से लोगों के संबंध हमारे संबंधों की जान हैं. पीएम मोदी ने नालंदा विश्वविद्यालय में भूटान के लिए पोस्ट ग्रेजुएट स्कॉलरशिप को दो से बढ़ाकर पांच करने का ऐलान किया है.
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत-भूटान की अद्वितीय मैत्री है. अपने दूसरे कार्यकाल के शुरू में ही भूटान आकर मैं बहुत खुश हूं. यह मेरा सौभाग्य है कि भारत की जनता के  निर्णायक जनादेश ने इन संबंधों को और मज़बूत बनाने के लिए भूटान नरेश और आपके साथ काम करने का मौका मुझे एक बार फिर दिया है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत का सौभाग्य है कि हम भूटान के विकास में प्रमुख भागीदार हैं. भूटान की पंचवर्षीय योजनाओं में भारत का सहयोग आपकी इच्छाओं और प्राथमिकताओं के आधार पर आगे भी जारी रहेगा.
प्रधानमंत्री ने कहा कि हाइड्रो-पावर हमारे दोनों देशों के बीच सहयोग का महत्त्वपूर्ण क्षेत्र है. दोनों देशों ने मिलकर भूटान की नदियों की शक्ति को बिजली में ही नहीं, पारस्परिक समृद्धि में भी बदला है. भारत ने मांगदेछु परियोजना के उद्घाटन के साथ इस यात्रा का एक और ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया है. दोनों देशों के सहयोग से भूटान में हाइड्रो-पावर उत्पादन क्षमता 2000 मेगावाट को पार कर गयी है. हम अन्य परियोजनाओं को भी तेज़ी से आगे ले जायेंगे.
पीएम मोदी ने कहा कि भूटान के सामान्य लोगों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत से एलपीजी की आपूर्ति 700 से बढ़ाकर 1000 मीट्रिक टन प्रति माह की जा रही है इससे clean fuel गांवों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी. भूटान में मल्टी डिस्प्लेनरी सुपर स्पेसियलिटी हॉस्पिटल के उनके सपने को साकार करने में भारत हर संभव सहयोग करेगा. पीएम ने कहा कि  SAARC करेंसी स्वैप फ्रेमवर्क के तहत भूटान के लिए करेंसी स्वैप की लिमिट बढ़ाने के लिए हमारा नज़ारिया सकारात्मक है. विदेशी मुद्रा की आवश्यकता को पूरा करने के लिए स्टैंडबॉय स्वैप व्यवस्था के तहत अतिरिक्त 100 मिलियन डॉलर भूटान को उपलब्ध होंगे.
प्रधानमंत्री ने कहा कि स्पेस टेक्नालॉजी के उपयोग से भूटान के विकास में तेजी लाने के लिए भारत प्रतिबद्ध है. प्रधानमंत्री ने भूटान में साउथ एशिया सैटेलाइट के अर्थ स्टेशन का उद्घाटन भी किया. यह भूटान में कम्युनिकेशन, सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली और डिजास्टर मैनेजमेंट के कवरेज क्षेत्र को बढ़ाएगा. इन उद्देश्यों के लिए भूटान की ज़रुरत के अनुसार अतिरिक्त बैंडविड्थ और ट्रांसपोंडर भी उपलब्ध कराया जाएगा. दोनों देश छोटे उपग्रह के निर्माण और अंतरिक्ष तकनीक के प्रयोगों में भी सहयोग करेंगे.
भारत के नेशनल नॉलेज नेटवर्क के साथ कनेक्शन  भूटान के छात्रों और शोधकर्ताओं को भारतीय विश्वविद्यालयों के नए साधनों से जोड़ेगा. यह दोनों देशों के बीच साझा नॉलेज सोसायटी की स्थापना के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है, जो विशेष रूप से हमारे युवाओं को लाभान्वित करेगा. साथ ही रॉयल भूटान विश्वविद्यालय और भारत के IITs और कुछ अन्य टॉप शिक्षा संस्थानों के बीच सहयोग और संबंध, शिक्षा और टेक्नोलॉजी के लिए आज कीआवश्यकताओं के अनुरूप हैं. रविवार को प्रधानमंत्री रॉयल भूटान विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से भी मुलाकात करेंगे.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *