Nationalwheels

गाड़ी का बीमा खत्म होते ही नोटिस भेजेगा आरटीओ कार्यालय, चालान से बचाने की कवायद

गाड़ी का बीमा खत्म होते ही नोटिस भेजेगा आरटीओ कार्यालय, चालान से बचाने की कवायद
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
मध्य प्रदेश, पंजाब और पश्चिम बंगाल जैसे गैर भाजपाई राज्यों को छोड़ कर पूरे देश में एक सितंबर से न्यू मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो चुका है. इसमें भारी जुर्माने के प्रावधानों को लेकर पूरे देशभर में बवाल मचा हुआ है. खुद भाजपा कार्यकर्ता भी सोशल मीडिया पर सरकार के इस कानून की आलोचना कर रहे हैं. इस कानून के लागू होने के बाद ट्रैफिक नियमों का उलंघन करना काफी महंगा कर दिया गया है. पूर्व मे जिन कानून के टूटने पर 500 रुपये जुर्माना लगता था, अब 2000 रुपये न्यूनतम जुर्माना लग रहा है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कड़े नियम इसलिए लागू किए गए हैं ताकि लोग ट्रैफिक नियमों की पालन करें. सरकार का मकसद खजाना भरने का नहीं है. परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हर साल देश में 5 लाख से ज्यादा हादसे होते हैं. इन हादसों में 1.5 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो जाती है. मृतको में 80 फीसदी 18-40 आयु वर्ग के युवा रहते हैं. युवाओं का असयम चले जाना देश का नुकसान है. इससे तमाम परिवार भी तबाह हो चुके हैं. इसीलिए कड़े कानून की जरूरत पड़ी.

नए नियम के मुताबिक, अगर किसी वाहन का इंश्योरेंस नहीं है त पकड़े जाने पर पहली बार 2000 रुपये का फाइन और तीन महीने तक की सजा हो सकती है. दूसरी बार पकड़े जाने पर 4,000 रुपये तक फाइन और तीन महीने की सजा हो सकती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक सितंबर के बाद अचानक से मोटर इंश्योरेंस में इजाफा हुआ है.

बताया जा रहा है कि अब IRDAI (Insurance Regulatory and Development Authority) और RTO विभाग मिलकर एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है. इसके तहत जिन वाहनों का इंश्योरेंस खत्म होगा, उनके घर नोटिस भेजा जाएगा. IRDAI उन वाहनों की लिस्ट RTO विभाग से शेयर करेगा, बाद में उनके पते पर नोटिस जारी किया जाएगा.

इसके लिए IRDAI-RTO ने मिलकर पायलट प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया है. 4 RTO ऑफिस के साथ इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई है. अगर यह प्रोजेक्ट सफल रहता है तो आने वाले दिनों में आपके पास अगर गाड़ी होगी तो बिना इंश्योरेंस सड़कों पर निकलना मुश्किल होगा. क्योंकि, RTO विभाग समय से पहले आपको इसकी याद दिलाएगा.

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *