Nationalwheels

पुलवामा आतंकी हमले पर सपा नेता रामगोपाल यादव का बयान- सरकार बदलेगी तो होगी जांच, बड़े-बड़े लोग फंसेंगे

पुलवामा आतंकी हमले पर सपा नेता रामगोपाल यादव का बयान- सरकार बदलेगी तो होगी जांच, बड़े-बड़े लोग फंसेंगे
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
समाजवादी पार्टी के प्रमुख महासचिव और अध्यक्ष अखिलेश यादव के रणनीतिकार रामगोपाल यादव ने सैफई में यादव परिवार के होली समारोह में गुरुवार को पुलवामा हमले को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार से पैरामिलिट्री फोर्स दुखी है. वोट के चक्कर में जवान मार दिए गए. साधारण बस से जवानों को श्रीनगर भेज दिया गया. रास्ते में कोई जांच भी नहीं हुई. यह साजिश है. जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी. तब बड़े-बड़े लोग फंसेंगे. उन्होंने कहा कि गठबंधन होने से उत्तर प्रदेश में भाजपा के लोग परेशान हैं. इसी कारण से भाजपा अपने प्रत्याशी घोषित नहीं कर पा रही है.
गौरतलब है कि पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था. आतंकी ने विस्फोटकों से भरी एसयूवी से सीआरपीएफ के बस में टक्कर मार दी थी. इस घटना में 40 जवान शहीद हो गए थे. हमले को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच शुरू हुई तनातनी अब तक जारी है. इस घटना का बदला लेने के लिए केंद्र सरकार के फैसले के बाद वायु सेना ने पाकिस्तान के अंदर घुसकर बालाकोट में जैश के आतंकी शिविर को तबाह कर दिया था. इस हमले में 200 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बातें कही जा रही हैं. हालांकि, टीएमसी समेत कई दलों ने पुलवामा हमले और बालाकोट में जवाबी कार्रवाई पर कई मंचों से मोदी सरकार पर हमला किया है. पहली बार किसी पार्टी के बड़े नेता ने पुलवामा हमले में सरकार की लापरवाही की जांच कराने का बयान दिया है. हालांकि, हमले की जांच एनआईए कर रही है.
उधर, पूरे देश होली पर रंग और गुलाल से सराबोर है. आम लोगों के साथ-साथ चुनावी माहौल होने से नेताओं की होली भी नए रंग में दिख रही है. उत्तर प्रदेश में सभी को सैफई की होली के रंग देखने की उत्सुकता बनी हुई थी. लोगों की आशंका के अनुसार सपा के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई में इस बार होली के दो रंग देखने को मिले. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव को मंच पर साथ बिठाकर परंपरागत फूलों की होली खेलते दिखे. वहीं, अखिलेश से अलग हो चुके प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने होली के लिए अपना अलग मंच सजाया लेकिन मुलायम सिंह यादव शिवपाल के मंच तक न जाकर कार्यकर्ताओं को एक किस्म से लोकसभा चुनाव के लिए साफ-साफ संकेत कर दिया कि वह भाई के साथ नहीं बेटे के साथ हैं.
शिवपाल ने एसएस मेमोरियल स्कूल में पंडाल लगाकर कार्यकर्ताओं और लोगों को होली की शुभकामनाएं दी. इस दौरान उनके पुत्र अदित्य यादव भी मौजूद थे. मुलायम समेत परिवार का कोई और सदस्य शिवपाल सिंह यादव की होली में शामिल नहीं हुआ. सांसद धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप सिंह यादव सहित परिवार के अन्य सदस्य भी अखिलेश यादव की होली में पहुंचे.
शिवपाल ने कहा, गठबंधन का प्रयास किया
इटावा में होली के अवसर पर मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद लेकर निकले शिवपाल सिंह यादव ने देश और प्रदेश के लोगों को होली की बधाई देते हुए एक किस्म की लाचारी भी प्रकट की. उन्होंने कहा कि मैने कांग्रेस समेत गठबंधन के दलों को साथ चुनाव लडऩे के लिए मनाने का प्रयास किया लेकिन, उन्होंने मुझे शामिल नहीं किया. इसलिए मैंने पीस पार्टी और दूसरे छोटे दलों के साथ गठबंधन किया है.
फिरोजाबाद की सीट जीतनी है
परिवार के अलग-अलग मंचों पर सजा होली मिलन समारोह भी राजनीति से दूर नहीं रह सका. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल सिंह यादव का नाम लिए बगैर कहा कि फिरोजाबाद की लोकसभा सीट हर हाल में जीतनी है. उन्होंने कहा कि मैनपुरी लोकसभा सीट नेता जी मुलायम सिंह यादव रिकॉर्ड मतों से जीतें. फिर कन्नौज और इटावा के लोग भी पीछे न रह जाएं और जीत दर्ज कराएं. दरअसल, सपा ने फिरोजाबाद से रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव को टिकट दिया है. उधऱ, इसी सीट से उनके चाचा शिवपाल यादव भी चुनाव लड़ रहे हैं. शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव के बीच छत्तीस के रिश्ते जगजाहिर हैं. बताया जा रहा है कि फिरोजाबाद में सपा का बड़ा कैडर शिवपाल यादव के साथ खड़ा हो चुका है. इसमें एक विधायक भी शामिल हैं.

युवाओं को ही अब कमान संभालनी है
मुलायम सिंह यादव ने भी संदेश दिया कि युवाओं को ही अब कमान संभालनी है. सपा के प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि गठबंधन होने से उत्तर प्रदेश में भाजपा के लोग परेशान हैं. इसी कारण से भाजपा अपने प्रत्याशी घोषित नहीं कर पा रही है. उन्होंने कहा कि सरकार से पैरामिलिट्री फोर्स दुखी है. वोट के चक्कर में जवान मार दिए गए. साधारण बस से जवानों को श्रीनगर भेज दिया गया. रास्ते में कोई जांच भी नहीं हुई. यह साजिश है. जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी. तब बड़े-बड़े लोग फंसेंगे.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *