Nationalwheels

दिल्ली से हावड़ा और मुंबई मार्ग पर 160 की रफ्तार से ट्रेनें चलाएगा रेलवे

दिल्ली से हावड़ा और मुंबई मार्ग पर 160 की रफ्तार से ट्रेनें चलाएगा रेलवे
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
रेलवे दिल्ली से हावड़ा और मुंबई की दूरी तो नहीं घटा सकता लेकिन यात्रा अवधि को करने के लिए तेजी से आगे बढ़ रहा है. रेल मंत्रालय ने तय किया है कि दिल्ली से मुंबई या हावड़ा की दूरी को 12 घंटे में पूरा कराया जाएगा. इसके लिए वर्तमान रेलमार्ग को ही 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति वाली ट्रेनों के लिए अपग्रेड किया जाएगा. इस योजना पर अमल के लिए केंद्र सरकार ने करीब 13 हज़ार करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. उम्मीद है कि इससे दिल्ली से हावड़ा का समय करीब 5 घंटे और दिल्ली से मुंबई का समय साढ़े 3 घंटे कम हो जाएगा. रेलवे ने इन दोनों रूटों पर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने के लिए अपने 100 दिन के एजेंडे में प्लान बनाया था. यह काम अगले आम चुनाव के पहले पूरा कर लेने का ताना-बाना बुना जा रहा है.

ट्रैक पर करोड़ों खर्च करेगा रेलवे 
दिल्ली-हावड़ा रूट पर कानपुर और लखनऊ दोनों लाइनों को दुरुस्त किया जाएगा. इस पर रेलवे करीब 6685 करोड़ रुपये ख़र्च करने जा रहा है. जबकि दिल्ली-मुंबई रूट पर रेलवे 6806 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा. ये दोनों ही काम 2022-23 तक पूरा करने का लक्ष्य है. वर्तमान में दोनों रूटों पर 130 किमी प्रति घंटे की गति से राजधानी, दूरंतो, शताब्दी के साथ कई अन्य ट्रेनों का संचालन  किया जा रहा है. रेलवे अफसरों का मानना है कि रेलमार्ग में पड़ने वाली आबादी और ग्रामीण क्षेत्रों के आसपास के ट्रैक पर अक्सर जानवर आ जाते हैं. इससे ट्रेनों की गति प्रभावित होती है. अन्यथा वर्तमान ट्रैक पर ही सिगनल प्रणाली को अपग्रेड कर वंदेभारत जैसी हल्की ट्रेनों को 160 किमी प्रति घंटे की गति से आसानी से चलाया जा सकता है.
फिलहाल, ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने के लिए इन रूटों पर फेंसिंग की जाएगी यानि ट्रैक को दोनों तरफ से घेर दिया जाएगा. ताकि ट्रैक पर बाहरी कोई न आ सके. इसके साथ ही सुरक्षा के लिहाज से ऑटोमैटिक ट्रेन प्रोटेशन सिस्टम, मोबाइल रेडियो कम्युनिकेशन सिस्टम लगाया जाएगा. इन दोनों रूट्स पर जो काम किया जाएगा उससे करीब 7 करोड़ श्रम दिवस का रोज़गार भी पैदा होगा. हाईस्पीड ट्रेनों से यात्रियों का समय बचेगा.
सभी रूटों पर तेज गति से दौड़ेंगी ट्रेनें 
एक बार इन दो रूट्स पर 160 की स्पीड में ट्रेन चलने के बाद रेलवे की योजना पूरे गोल्डन क्वाड्रिलेट्रल और उसके डायगोनल पर ट्रेनों को 160 की स्पीड में चलाने के लिए काम करेगा. यानि दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता को आपस में जोड़ने वाले सभी रूट्स पर ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 160 कर दी जाएगी. खास बात ये है कि गोल्डन क्वाड्रिलेट्रल और उसके डायगोनल पर रेलवे के महज़ 16% ट्रैक बिछे हुए हैं लेकिन इन रूटों पर रेलवे के 52% मुसाफिर सफर करते हैं जबकि 60% मालगाड़ियां इसी ट्रैक पर चलती हैं.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *