Nationalwheels

रेलवे का नायाब काम, हुबली स्टेशन पर लगी #PublicFridge ने बुझाई 100 भूखे लोगों की क्षुधा

रेलवे का नायाब काम, हुबली स्टेशन पर लगी #PublicFridge ने बुझाई 100 भूखे लोगों की क्षुधा
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
यात्री सुविधाओं को बेहतर बनाने के मिशन में रेलवे अफसरों ने एक नायाब काम किया है. हुबली स्टेशन के प्लेटफार्म पर एक पब्लिक फ्रिज की शुरुआत की गई है जो जरूरतमंद भूखे लोगों की क्षुधा शांत कर रही है. यानी फ्रिज में रखे खाद्य पदार्थ को लेने के लिए कोई कीमत नहीं चुकानी है. पिछले तीन दिनों में 100 जरूरतमंदों ने इसका सदुपयोग किया है. इस फ्रिज में भोजन रखने के लिए रेलवे को भी कोई रकम नहीं खर्च करना है. बल्कि यात्री और फूड प्लाजा से बचे हुए खाने को इसमें रख दिया जाता है. रेल मंत्रालय ने भी इस सामाजिक कार्य की तारीफ की है. जल्द ही देश के दूसरे रेलवे स्टेशनों पर भी ऐसी पब्लिक फ्रिज देखी जा सकती है. वजह, रेलवे स्टेशनों पर रोजाना इतना खाद्य पदार्थ रोजाना फेंका जा रहा है जिससे हजारों बेसहारा और भूखे लोगों का पेट भर सकता है.

रेलवे स्टेशनों पर फूड प्लाजा और फूड स्टॉल से रोजाना हजारों क्विटंल खाद्य पदार्थ फेंका जाता है. इसके कारण गंदगी भी फैलती है. इसे देख हुबली स्टेशन से नायाब सोच को आगे बढ़ाया गया है. जनता फ्रिज का स्लोगन है-अपना अतिरिक्त भोजन जरूरतमंदों को दान करें.
रेल मंत्रालय ने जनता फ्रिज की तस्वीरों को जारी किया है. मंत्रालय के ट्वीट में लिखा गया है कि यात्री और फूड प्लाजा स्टॉफ अतिरिक्त या बचा हुआ भोजन इस फ्रिज में रख देते हैं. 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर शुरू हुए इस कार्य से अब तक 100 से ज्यादा जरूरतमंद लोग अपना पेट भर चुके हैं. कोई भी जरूरतमंद फ्रिज खोलकर अपनी जरूरतभर का खाद्य पदार्थ लेकर इस्तेमाल कर सकता है. इस खाद्य पदार्थ के लिए कोई शुल्क नहीं है.
रेलवे अफसरों का कहना है कि इसकी सफलता से देश के अन्य रेलवे स्टेशनों तक भी यह विचार जल्द पहुंच सकता है. वजह. अतिरिक्त या बचा हुआ खाद्य पदार्थ के निस्तारण की समस्या सभी जगहों पर है. ऐसे में अतिरिक्त या बचे हुए खाद्य पदार्थ का इससे अच्छा दूसरा कोई इस्तेमाल नहीं है.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *