Nationalwheels

प्रोफेशनल्स ने सीखा फेसलैस स्क्रूटनी सिस्टम और नए आयकर संहिता की बारीकियां

प्रोफेशनल्स ने सीखा फेसलैस स्क्रूटनी सिस्टम और नए आयकर संहिता की बारीकियां
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
आयकर विभाग सितंबर के दूसरे पखवाड़े से फेसलैस स्क्रूटनी सिस्टम लांच कर चुका है. करदाताओं के लिए इसे बड़ी राहत के तौर पर देखा जा रहा है. कर एवं वित्त सलाहकार डॉ पवन जायसवाल ने बताया है कि अब करदाताओं को आयकर विभाग के दफ्तरों में जाने की जरूरत नहीं है. बल्कि घर बैठकर ही ऑनलाइन नोटिस का जवाब देकर कर निर्धारण पूरा कराया जा सकेगा.
आयकर कानून एवं प्रस्तावित इनकम टैक्स कोड पर इंस्टीट्यूट ऑप कास्ट एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के तत्वावधान में प्रयागराज चैप्टर ने बुधवार को एक सेमिनार का आयोजन किया. इसमें 50 से ज्यादा प्रोफेशनल्स ने शिरकत की. बीपीसीएल के पूर्व प्रबंध निदेशक (विपणन) नरेश कुमार नरूला और कर व वित्त सलाहकार डॉ पवन जायसवाल ने दीप प्रज्ज्वलन किया. मुख्य अतिथि नरूला ने प्रोफेशनल्स को निष्ठा, ईमानदारी और लगन के साथ कर चुकाने की कवायद की.

मुख्य वक्ता कर एवं वित्त सलाहकार डॉ पवन जायसवाल ने कर निर्धारण में गुणवत्ता की चुनौती को स्वीकार करने के लिए प्रोफेशनल्स को प्रेरित किया. डॉ जायसवाल ने बताया कि आयकर विभाग लगातार करदाताओं की सुविधाओं को बढ़ाने में लगा है. विभाग की कोशिश है कि करदाताओं को किसी भी संभावित परेशानी से बचाया जाए. इस दौरान डॉ पवन जायसवाल ने फेसलैस स्क्रूटनी सिस्टम और उसकी सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी.
टीडीएस पर चर्चा में डॉ जायसवाल ने बताया कि डिडक्टर यदि सही एवंं समय पर फार्म-24 और 26 ऑनलाइन नहीं भरेंगे तो आयकर रिटर्न भरना मुश्किल हो जाएगा. अब फार्म 26एएस का डेटा स्वतः ही आईटीआर में भर जाता है. केंद्र सरकार यह प्रयास कर रही है कि आने वाले वित्तीय वर्ष से रिफंड महज 24 घंटे में मिल जाएगा. कार्यक्रम का संचालन डॉ राम कुमार मिश्रा ने किया. सीएमए संस्थान के करारोपण से संबंधित भूमिका पर अनवर हसन ने चर्चा की. अध्यक्षता इंद्रसेन सिंह और धन्यवाद ज्ञापन सीएमए अशोक अग्रहरि ने की.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *