Nationalwheels

प्रयाग, प्रयागघाट, रामबाग, दारागंज और झूंसी स्टेशन जल्द बन सकते हैं उत्तर मध्य रेलवे का हिस्सा

प्रयाग, प्रयागघाट, रामबाग, दारागंज और झूंसी स्टेशन जल्द बन सकते हैं उत्तर मध्य रेलवे का हिस्सा
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
प्रयागराज शहर के अंदर उत्तर रेलवे के प्रयाग और प्रयागघाट, पूर्वोत्तर रेलवे के रामबाग, दारागंज और झूंसी रेलवे स्टेशन जल्द ही उत्तर मध्य रेलवे का हिस्सा बन सकते हैं. सामान्यतौर पर शहरियों और रेलयात्रियों को इस बदलाव का बड़ा लाभ यह होगा कि इलाहाबाद जंक्शन के आउटर पर फंसने वाली ट्रेनें कम व्यवधानों के साथ बड़े स्टेशन पहुंच सकेंगी. यही नहीं, ट्रेनों की लेटलतीफी को खत्म करने के लिए इलाहाबाद जंक्शन से नैनी-छिवकी के बीच तीसरी रेल लाइन का निर्माण जल्द शुरू हो सकता है. नैनी-छिवकी क्षेत्र में दो रेल फ्लाईओवर का निर्माण और छिवकी से मुगलसराय के बीच यात्री ट्रेनों के लिए तीसरी लाइन का निर्माण भी जल्द शुरू होने की संभावना है. उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने कहा कि पूर्वी डीएफसी पर भी अगले डेढ़ वर्षों में मालगाड़ियों का परिचालन शुरू हो जाएगा. इन कार्यों से छिवकी से मुगलसराय के बीच ट्रेनों की लेटलतीफी खत्म हो जाएगी.
इलाहाबाद जंक्शन के सिटी साइड में शनिवार को प्रदर्शनी और पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान हुई प्रेसवार्ता में ट्रेनों के देर से चलने के सवालों पर महाप्रबंधक ने कहा कि कई कार्य कराए जा रहे हैं, अगले कुछ वर्षों में उनके पूरे होने पर यात्री ट्रेनों को समय से चलाया जा सकेगा. उन्होंने दावा किया कि 80 फीसदी ट्रेनें सही समय पर चल रही हैं. जीएम ने कहा कि दूसरी जोनल रेलवे के टर्मिलन स्टेशनों को एनसीआर में शामिल करने के प्रस्ताव पर रेलवे बोर्ड गंभीरता से विचार कर रहा है. महाप्रबंधक ने यह ऐलान भी किया कि जंक्शन के सिविल लाइंस साइड में महात्मा गांधी से जुड़े आलेख को फिर लगाया जाएगा. साथ ही  प्रयागराज में स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान शहीद हुए लोगों की यादों को संजोने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा जाएगा.
इस दौरान अंबाला में पुरस्कृत कर्मचारियों को महाप्रबंधक ने जंक्शन पर पुरस्कृत भी किया. इसमें पीआरओ डॉ अमित मालवीय, अमित सिंह, प्रबल सिंह, विनोद त्रिपाठी, रत्नेश कुमार सिंह, केके पांडे, विमिलेश त्रिपाठी समेत कई अफसर और कर्मचारी शामिल रहे.

प्रदर्शनी में अर्द्धकुंभ के दौरान किए गए कार्यों, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से जुड़े दुर्लभ चित्रों, 154 वर्ष पूरा करने नैनी यमुना ब्रिज के साथ कई ऐतिहासिक रेलवे स्टेशनों, पुलों, ग्वालियर लाइट रेलवे, प्रयागराज एक्सप्रेस समेत रेलवे की कई तकनीकी सफलाओं से जुड़े चित्रों को प्रदर्शित किया गया है.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *