NationalWheels

पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण ने भी पूछा- क्या आप बैगन के इन गुणों को जानते हैं

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
भारत में आलू के बाद यदि कोई सब्जी घर-घर में लोकप्रिय है तो वह बैगन है. आलू बैगन की सब्जी, बैगन फ्राई, बैगन पकोड़ा न जाने कितने तरीकों से हम बैगन यानी एगप्लांट का उपयोग करते है. आपने अकसर लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि बैंगन तो बे- गुण है यानी की इसमें तो कोई गुण ही नहीं है, लेकिन आप गलत है. बैंगन के गुण के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे. पतंजलि के वैद्य गुरु आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट किया है कि क्या आप बैगन के इन गुणों से परिचित हैं. इसलिए आज इस लेख में बैगन के गुणों से आपको भी रूबरू करा रहे हैं. इन गुणों को जानकार आप भी अपनी थाली में बैगन को विभिन्न स्वरूपों में जरूर देखना पसंद करेंगे.

आयुर्वेदाचार्यों का कहना है कि बैगन औषधीय गुणों की खान है. एगप्लांट चेहरे पर ग्लो लाने के साथ साथ बालों के लिए भी लाभदायक है. साथ ही दिल की बीमारी को ठीक करने के साथ ही मेमोरी बढ़ाता है. यह धूम्रपान छोड़ने में मदद करता है.

क्या आपको बैंगन में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में जानकारी है. अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं कि कौन-कौन से पोषक तत्व इसमें पाए जाते हैं. यह पोषक तत्व आपके शरीर को सही तरीके से विकसित करने और चलाने में मदद करते हैं. जानिए एक कप (या 82 ग्राम) बैंगन में –

  • 11% फाइबर,
  • 10% मैंगनीज,
  • 5.4% मोलिब्डेनम,
  • 5.3% पोटेशियम,
  • 4.5% फोलेट,
  • 3.5% विटामिन के,
  • 3.5% तांबे,
  • 63.5% विटामिनबी,
  • 3.1% ट्रिप्टोफैन,
  • 3% विटामिन सी, और
  • 2.8% मैग्नीशियम मिलता है।

बैगन में हैं ये गुण

  • कहा जाता है कि हर महिला अपनी उम्र से कम दिखना चाहती है. बैंगन की मदद से आप अपनी उम्र से कम दिख सकती है. बैंगन में बहुत सारे एंथोकायनिन होते हैं और ये एंटीऑक्सिडेंट एंटीएजिंग एजेंट के रूप में कार्य करते हैं.
  • डायबीटिज एक गंभीर बीमारियों की श्रेणी में आती है. मधुमेह के रोगियों को बहुत सावधानियां बरतने की जरूरत होती  है. बैगन में अधिक मात्रा में फाइबर और कम घुलनशील कार्बोहाइड्रेट होने के कारण ये डायबीटिज रोगियों के लिए फायदेमंद है. बैगन ब्लड शुगर को कम करने और शरीर में ग्लूकोजलेवल को समान करने में मदद करता है. बैगन का सेवन करना टाइप-2 डायबीटिज के मरीज के लिए लाभकारी है.
  • एगप्लांट का नियमित सेवन करना आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है. यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और आपके रक्तचाप को स्थिर करने में मदद करता है. जिसके कारण ह्दय रोगों के जोखिम को कम किया जा सकता है. इसके साथ ही आपके शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेट करता है. इसमें मौजूद पोटिशियम भी दिल की बीमारी को दूर करने में मदद करता है.
  • याददाश्त बढ़ाने के लिए भी खाने में  बैगन को शामिल करना चाहिए. बैगन में फाइटो न्यूट्रिएंट्स होते है जो सेल मेम्बरेन को नुकसान होने से बचाता है. जो एक संदेशवाहक की तरह काम करता है.
  • आयरन शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है. आयरन शरीर के लिए बहुत जरूरी मिनरल है, लेकिन शरीर में आयरन की अधिक मात्रा नुकसानदायक हो सकती है. बैगन में मौजूद नसुनीन शरीर से अधिक आयरन को हटाने में मदद करता है. ये आपके शरीर से फ्रीरेडिकल्स को हटाता है और कोशिकाओं को क्षति होने से बचाता है.
  • आप वजन कम करना चाहते हैं तो तो बैगन का इस्तेमाल करके देखें. बैंगन में पानी अधिक मात्रा में होने से इसमें काफी कम कैलोरी है. इसलिए जो व्यक्ति अपना वजन कम करना चाहते है वह इसका उपयोग कर सकते है.
  • पेट से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भी आप बैगन का इस्तेमाल कर सकते हैं. बैंगन में मौजूद फाइबर आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है. फाइबर आंतों की छमता को बढ़ाता है जो पेट और आंत की मांसपेशियों के संकुचन को नियंत्रित करता है. यह गैस्ट्रिक जूस को नियंत्रित करने में मदद करता है, जिससे शरीर में पोषक तत्वों का अवशोषण बढ़ जाता है.
  • धूम्रपान छोड़ना एक चुनौती पूर्ण काम है. बैगन आपकी इस लत को धुड़ाने में मदद कर सकता है. 1993 में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि किसी अन्य सब्जी के तुलना में बैगन में निकोटीन की मात्रा अधिक होती है. बैगन में निकोटिनिक एसिड होता है, जिसे विटामिन पीपी भी कहा जाता है. यह विटामिन निकोटीन निर्भरता को कम करता है और उन लोगों की मदद करता है जो धूम्रपान छोड़ना चाहते हैं.
  • विटामिन सी होने से बैगन एंटीवायरल और एंटीबैक्टेरियल की तरह काम करता है. इसके कारण घाव भरने में भी ये काफी उपयोगी साबित होता है.
  • वर्तमान समय में बीपी बढ़ना और तनाव होना आम बात हो गई है. हर बार दवा लेने से अच्छा है कि आप एक स्वास्थ्यवर्धक बैगन का प्रयोग करें. बैगन में बायोफ्लेवोनॉयड होता है जो बीपी और स्ट्रेस को नियंत्रित रखने में मदद करता है.
  • जैसा कि हम सभी जानते हैं कि लोहे की कमी एनीमिया के मूल कारणों में से एक है. इसमें सिरदर्द, अवसाद,  कमजोरी और संज्ञानात्मक खराबी जैसे लक्षण होने लगते हैं. इसलिए एनीमिया से निपटने के लिए डॉक्टर ऐसे आहार का सुझाव देते हैं जो लोहे में उच्च होता है. प्रति 100 ग्राम बैंगन में करीब 0.2 मिली ग्राम आयरन होता है. यह पौष्टिक वनस्पति तांबे में भी समृद्ध है (100 ग्राम में 0.173 मिली ग्राम). एक अन्य अनिवार्य घटक लाल रक्त कोशिकाओं के गठन को प्रोत्साहित करता है. ये दोनो खनिज लाल रक्त कोशिकाओं के समुचित उत्पादन और वितरण में मदद करने के लिए एक साथ मिलकर काम करते हैं, जिससे ऊर्जा और हीमोग्लोबिन स्तर बढ़ता हैं.

बैंगन खाने के नुकसान

आप अपने खाने में बैगन को जरूर शामिल कर सकते है लेकिन बैगन के इस्तेमाल के कुछ नुकसान भी है. इसलिए आपको यह जानना भी जरूरी है. इनकी अनदेखी गंभीर स्वास्थ्य समस्या को उत्पन्न कर सकती है.
  • बैंगन सब्जियों की nightshade परिवार से संबंधित हैं जिससे आपको एलर्जी हो सकती हैं.
  • गर्भवती महिलाओं को बहुत अधिक बैंगन खाने की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि बैंगन की प्रकृति अत्यधिक मूत्रवर्धक होती हैं और भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती हैं.
  • यदि आप एंटी डिपेटेंट ड्रग्स (अवसाद रोधी) पर हैं तो आपको बैंगन खाने से बचना चाहिए क्योंकि यह आपकी दवाओं के साथ प्रतिक्रिया कर सकता है.

बैगन के बारे में

बैगन एक सब्जी है जो भारत में ही पैदा हुआ है. विश्व मेंचीन (54 प्रतिशत) के बाद भारत बैगन की दूसरी सबसे अधिक पैदावार (27 प्रतिशत) वाला देश है. यह देश में 5.5 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में उगाया जाता है. बैगन का पौधा २ से ३ फुट ऊँचा खड़ा लगता है. फल बैगनी या हरापन लिए हुए पीले रंग का या सफेद होता है. यह कई आकार यानि गोल, अंडाकार या सेव के आकार का और लंबा तथा बड़े से बड़ा फुटबाल गेंद सा हो सकता है. लंबाई में एक फिट तक का हो सकता है. बैंगन भारत का देशज है. प्राचीन काल से भारत से इसकी खेती होती आ रही है. ऊँचे भागों को छोड़कर समस्त भारत में यह उगाया जाता है.

बैगन के सर्वाधिक उत्पादक दस देश (2010)

देश
उत्पादन (टन)
टिप्पणी
Flag of the People's Republic of China.svg चीनी जनवादी गणराज्य
24,501,936
F
Flag of India.svg भारत
10,563,000
Flag of Egypt.svg मिस्र
1,229,790
F
Flag of Iran.svg ईरान
888,500
F
Flag of Turkey.svg तुर्की
849,998
Flag of Indonesia.svg इंडोनेशिया
482,305
F
Flag of Iraq.svg इराक
387,435
F
Flag of Japan.svg जापान
330,100
F
Flag of Italy.svg इटली
302,551
फिलीपींस
208,252
 विश्व
41,840,989
कुल
स्रोत: संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO), F = FAO का आकलन.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

NationalWheels will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.