hindi news, पाकिस्तान के विधायक ने कहा- पीएम मोदी हैं गब्बर शेर, इमरान की खोल दी ये पोल

पाकिस्तान के विधायक ने कहा- पीएम मोदी हैं गब्बर शेर, इमरान की खोल दी ये पोल

hindi news, पाकिस्तान के विधायक ने कहा- पीएम मोदी हैं गब्बर शेर, इमरान की खोल दी ये पोल
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
पुलवामा हमले और कश्मीर से धारा 370 खत्म किए जाने के बाद भारत-पाकिस्तान संबंध सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं. पाकिस्तान की इमरान सरकार भारत के खिलाफ रोजाना साजिशों की नई तरकीबें तलाश रही है. इसी बीच पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सिखों और हिन्दुओं की बेटियों के अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवकों से शादी के बीच इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के विधायक बलदेव कुमार को भागकर भारत में शरण लेना पड़ा है. बलदेव कुमार ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री इमरान खान से चुनाव पूर्व लोगों को भारी उम्मीदें थीं लेकिन सत्ता हासिल करने के बाद वह पूरी तरह से सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई की कठपुतली बन गए हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बब्बर शेर की उपाधि दी है.
43 वर्षीय सहजधारी सिख बलदेव कुमार खैबर पख्तून ख्वा विधानसभा में बारीकोट (आरक्षित) सीट से विधायक रहे हैं. लुधियाना के खन्ना में बलदेव कुमार की ससुराल है. वह तीन महीने के बीजा पर 12 अगस्त को अटारी बार्डर से भारत आ गए. इसके पहले ही अपने परिवार को सुरक्षित लुधियाना भेज चुके थे. बलदेव कुमार ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की ताजा स्थिति को भयावह बताया है. कहा, अब वह पाकिस्तान नहीं लौटना चाहते हैं. वजह, जीवन की असुरक्षा है.
कहा, मेरे बुजुर्गों ने पाकिस्तान के लिए तमाम कुर्बानियां दी हैं, लेकिन वहां हिन्दुओं, सिखों, इसाइयों पर लगातार हमले हो रहे हैं. अल्पसंख्यक नेताओं की हत्याएं आम हैं. बहन-बेटियों की इज्जत बचाना मुश्किल हो गया है. पिछले कुछ दिनों की घटनाएं इसके ताजा उदाहरण हैं. कहा, भारत सिर्फ इसलिए भागकर आए हैं ताकि अपने और परिवार की रक्षा कर सकें. वह भारत में राजनीतिक शरण के लिए आवेदन की तैयारी भी कर रहे हैं.

सिर्फ 36 घंटे रहे विधायक

बलदेव के मुताबिक उनकी पार्टी के विधायक सूरण सिंह की 2016 में हत्या हो गई. हत्या का झूठा आरोप उन पर लगाकर दो साल जेल में डाल दिया गया. 2018 में बरी होने पर पाकिस्तानी कानून के मुताबिक विधायक की मौत हो जाने पर उसी पार्टी के दूसरे नंबर पर रहने वाले नेता को ही विधायक मान लिया जाता है. इसलिए वह विधायक बन गए लेकिन जेल में होने के कारण शपथ नहीं ले सके. कार्यकाल खत्म होने के दो दिन पहले बरी होने पर शपथ ली. 36 घंटे बाद ही कार्यकाल खत्म हो गया. बलदेव कुमार इन दिनों खन्ना में दो कमरे के किराये के मकान में रह रहे हैं.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *