Nationalwheels

ऑपरेशन #बगदादीः तीन बीवियों को ढाल बनाकर सुरंग में भाग गया था आतंक के आका, शिकारी कुत्तों के दौड़ाने पर फूटकर रोया, गिड़गिड़या भी

ऑपरेशन #बगदादीः तीन बीवियों को ढाल बनाकर सुरंग में भाग गया था आतंक के आका, शिकारी कुत्तों के दौड़ाने पर फूटकर रोया, गिड़गिड़या भी
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
दुनियाभर में आतंक का आका बन चुके आईएसआईएस सरगना अल-बगदादी को अमेरिकी स्पेशल कमांडो की कार्रवाई में मारे गए 24 घंटे से ज्यादा बीत चुके हैं लेकिन दुनियाभर के लोग अब भी उसके बारे में जानने को उत्सुक हैं. साथ ही धीरे-धीरे बगदादी के खिलाफ चलाए गए खतरनाक और बहादुरी से भरे ऑपरेशन को लेकर भी तमाम जानकारियां सामने आ रही हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने पूरे ऑपरेशन के बारे में मीडिया को बताया कि वह पूरे ऑपरेशन को ह्वाइट हाउस में बैठकर लाइव देख रहे थे. यह ऑपरेशन अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन से अलग था लेकिन दोनों में काफी समानताएं भी रही हैं. दोनों ऑपरेशनों में अमेरिकी स्पेशल कमांडो ने टारगेट को पूरा करने के बाद यह पुष्टि भी की कि उनका लक्ष्य खत्म हो गया है और जिसे उन्होंने मारा है, वह वही है जिसके लिए ऑपरेशन चलाया गया. इसके लिए लादेन की तरह ही बगदादी के शरीर के टुकड़ों की डीएनए जांच कराई गई. साथ ही शरीर के कुछ हिस्सों को प्रिजर्व कर अमेरिका ले जाया गया. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि लाइव ऑपरेशन को देखना बेहद रोमांचक और किसी भी फिल्म से ज्यादा मजेदार था.
ट्रंप ने कहा कि ऑपरेशन पर उनकी पूरी निगाह थी और वे हर मिनट की जानकारी ले रहे थे. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि बगदादी जहां पर छिपा हुआ था, वो मकान एक मजबूत बाउंड्री वॉल से घिरा हुआ था. ट्रंप ने कहा कि उनकी आर्मी ने सबसे पहले धमाका कर दीवार को गिरा दिया.

आठ हेलिकॉप्टर में पहुंचे कमांडो, कुत्ते भी थे साथ

ट्रंप ने कहा कि ये ऑपरेशन इराक सीमा के निकट सीरिया के इडलिब प्रांत के बरिशा इलाके में शनिवार और रविवार के बीच वाली रात को अंजाम दिया गया. तुर्की के एक मिलेट्री बेस से उड़े अमेरिका के आठ हेलिकॉप्टर में भरकर अमेरिकी सेना ऑपरेशन के लिए घटनास्थल पहुंची. बगदादी के ठिकाने पर पहुंचने के दौरान थोड़ी गोलीबारी भी हुई लेकिन अमेरिकी कमांडो ने इसे क्षणभर में शांत कर दिया. इस दौरान अमेरिकी सेना के साथ विशेष रूप से प्रशिक्षित खूंखार कुत्ते थे. अमेरिकी सेना बगदादी का पीछा करने के लिए एक रोबॉट भी लेकर आई थी.

रोबॉट लेकर आई थी US आर्मी

अमेरिकी राष्ट्रपति ने ऑपरेशन की जानकारी देते हुए कहा कि यूएस सेना को पूरा अंदेशा था कि बगदादी विस्फोटक जैकेट का इस्तेमाल कर सकता है. वो सुरंग में छिप सकता है. इसलिए सेना उसका पीछा करने के लिए रोबोट लेकर आई थी. हालांकि सेना को रोबॉट का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं पड़ी.

आखिर में निकला बगदादी, मारी गईं दो बीवियां

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि बगदादी के घर में घुसने के लिए हमारे कमांडोज को ब्लास्ट करने पड़े. इसके बाद सामने एक सुंदर सा हॉल दिखा, अमेरिकी सेना इस हॉल में घुस गई. उन्होंने वहां मौजूद लोगों को काबू में किया. इस दौरान कई ISIS आतंकी मारे भी गए. अंदर बगदादी को दो बीवियां भी थीं, जिन्होंने कमर में विस्फोटक बेल्ट भी बांध रखी थी. हालांकि, अचानक हुए इस हमले से घबराने के कारण वे खुद को नहीं उड़ा पाईं. दोनों ही अमेरिकी कमांडोज और आतंकियों के बीच हुई फायरिंग में मारी गईं. बगदादी अपने ठिकाने से सबसे आखिर में बाहर आया. इस पूरे ऑपरेशन में अमेरिकी सेना ने वहां मौजूद 11 बच्चों को बचाया भी. ट्रंप ने कहा कि उन्हें नहीं पता है कि ये बच्चे बगदादी के हैं या किसी और के.

बगदादी के पीछे भागे कमांडोज और कुत्ते

अमेरिकी सेना ने जब ISIS के आतंकवादियों को निपटा लिया तो बगदादी की तरफ आगे बढ़ीं. पूरी दुनिया को धमाकों, चाकू, छूरी, तलवार और बंदूकों से दहलाने वाला बगदादी इस कार्रवाई से डरकर सुरंग में जा छिपा. सैनिकों को पता था कि टारगेट मुश्किल है, इसलिए धीरे-धीरे आगे बढ़े. कमांडो ने ट्रेंड कुत्तों को आगे भेजा. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हमलोग सुरंग में तेजी से आगे बढ़ने लगे. हमें 100 फीसदी भरोसा था कि सुरंग कहीं न कहीं खत्म तो होगा ही, लेकिन यह अंदेशा था कि कहीं भागने के लिए सुराग न छोड़ी गई हो. इसलिए हम तेजी से आगे बढ़ रहे थे. इसी दौरान स्पेशल फोर्सेज के शिकारी कुत्तों को बगदादी की भनक लग गई. कुत्ते बगदादी को दौड़ाने लगे. जब अपनी जान पर बन आई तो बगदादी रोता, चिल्लाता ओर खौफ में डूबा भागता जा रहा था. उसके साथ तीन बच्चे भी थे. अचानक सुरंग खत्म हो गई.

ऐसे आई बगदादी की मौत

बगदादी शिकारी कुत्तों को भी मात देने की कोशिश में लगा था लेकिन तभी अचानक सुरंग खत्म हो गई. भागने का और कोई रास्ता न देख बगदादी के होश उड़ गए. सैनिकों के हाथ पड़ने से बचने के लिए बगदादी ने इसी दौरान विस्फोटकों से भरे अपने जैकेट को डेटोनेट कर लिया. फिर, पलभर में ही तेज धमाका हुआ और सुरंग वहीं पर धंस गई. अमेरिकी सेना ने तुरंत वहां का मलबा हटाया और बगदादी की बॉडी से सैंपल लेकर ऑन स्पॉट DNA टेस्ट किया. अमेरिकी सैनिकों ने राहत की सांस तभी ली जब उन्हें भरोसा हो चला कि धमाके में मरने वाला शख्स ISIS का चीफ बगदादी ही था.

बगदादी के बॉडी पार्ट्स को अमेरिका लेकर आई आर्मी

अमेरिकी राष्ट्रपति के मुताबिक धमाके के बाद बगदादी का शरीर बेहद बुरी हालत में था. अमेरिका सेना बगदादी के कुछ बॉडी पार्ट्स को अमेरिका लेकर पहुंची है. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि इस ऑपरेशन में अमेरिका को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है. ट्रंप ने कहा, “किसी को चोट भी नहीं आई थी, हमारा एक कुत्ता जख्मी हो गया था, सुंदर कुत्ता था, काफी तेज-तर्रार है. इलाज के लिए उसे हम वापस अमेरिका ले आए हैं. इस कुत्ते ने शानदार काम किया, इसलिए किसी को कोई चोट नहीं आई.

 

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *