Nationalwheels

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने किया रामलला का दर्शन, निर्माण की तिथि का ऐलान जल्द

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने किया रामलला का दर्शन, निर्माण की तिथि का ऐलान जल्द

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र अयोध्या के पहले दौरे पर आज हैं

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
अजय सिन्हा
श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र अयोध्या के पहले दौरे पर आज हैं. वह अयोध्या में मंदिर निर्माण की तैयारियों और व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे. साथ ही श्रीराम जन्मभूमि परिसर का मुआयना करने के लिए भी जाएंगे. निर्माण के दौरान अस्थाई मंदिर और विग्रह के लिए विकसित किए जा रहे स्थान को भी वह देखेंगे. अयोध्या पहुंचने के पहले नृपेंद्र मिश्र ने शुक्रवार की शाम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी लखनऊ में मुलाकात की थी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव रहे नृपेंद्र मिश्र को श्रीराम मंदिर निर्माण समिति का चेयरमैन बनाकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने साफ कर दिया है कि मंदिर निर्माण में न देरी होगी और न ही किसी भी किस्म की कमी आने दी जाएगी. गौरतलब है कि पिछले दिनों ऐसी खबरें भी आई हैं कि कई बड़ी कंपनियां सेवाभाव से मंदिर निर्माण को पूरा करना चाहती हैं. इसमें एलएंडटी का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है. फिलहाल, नृपेंद्र मिश्र की छवि एक सख्त प्रशासक की है.
मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने सुबह रामलला का दर्शन किया है. परिसर का जायजा लेने के दौरान ट्रस्ट के प्रशासनिक पदेन सदस्य अवनीश अवस्थी, डीएम अनुज झा, अयोध्या के राजा व सदस्य बिमलेंद्र मोहन मिश्र, डॉ अनिल मिश्र और महंत दिनेंद्र दास भी उनके साथ हैं. ट्रस्ट की अगली बैठक की तिथि भी तय होनी है.

राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र प्रभु श्रीराम के पहले उनके भक्त हनुमान जी का दर्शन करने हनुमानगढ़ी पहुंचे. हनुमानगढ़ी पर रामभक्त के दर्शन के बाद अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ राम जन्मभूमि रामलला का दर्शन करने पहुंचे. इसके पूर्व अनिल मिश्र और ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय और विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा श्रीराम जन्म भूमि परिसर के अंदर पहुंच चुके हैं.
शनिवार को सुबह 10:30 बजे वे कार से अयोध्या सर्किट हाउस पहुंचे. यहां कमिश्नर एमपी अग्रवाल, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा और एसएसपी आशीष तिवारी ने नृपेंद्र मिश्र अगवानी की. हनुमानगढ़ी बजरंगबली के दरबार में दर्शन व आरती कर हाजिरी लगाई. इसके बाद वह रामजन्मभूमि परिसर का जायजा लिया. नृपेंद्र मिश्र की यह यात्रा मंदिर निर्माण की दृष्टि से बेहद अहम मानी जा रही है.
पूरे होमवर्क से आए मिश्र
नृपेंद्र मिश्र का अयोध्या में रात्रि प्रवास इस बात का संकेत है कि वे दौरे का होमवर्क पूरा करके आए हैं. समझा जाता है कि रविवार को ट्रस्ट के स्थानीय सदस्यों के साथ बैठक के साथ मंदिर निर्माण की दिशा में ठोस कदम बढ़ाएंगे. यह भी संभव है कि उनकी यात्रा राममंदिर के शिलान्यास की तिथि पर पड़ा पर्दा हटाने वाली हो. मोटे तौर पर अनुमान लगाया जाता है कि शिलान्यास के लिए दो अप्रैल रामनवमी की तिथि अनुकूल होगी, परंतु इस मौके पर उमडऩे वाले जनसैलाब को ध्यान में रखकर जानकार शिलान्यास के लिए आठ अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा की तिथि या 26 अप्रैल को पड़ रही अक्षय तृतीया की तिथि सुझा रहे हैं.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *