Nationalwheels

मकर संक्रांति की धूम, सभी ग्रहों के राजा सूर्य की होती है पूजा, देशभर में इन नामों से जाना जाता है ये पर्व

मकर संक्रांति की धूम, सभी ग्रहों के राजा सूर्य की होती है पूजा, देशभर में इन नामों से जाना जाता है ये पर्व

मकर संक्रांति का त्यौहार देश के विभिन्न हिस्सों में मनाया जा रहा है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
मकर संक्रांति का त्यौहार देश के विभिन्न हिस्सों में मनाया जा रहा है। वैदिक हिंदू दर्शन के अनुसार मकर संक्रांति सूर्य का त्‍यौहार है जो सभी ग्रहों के राजा माने जाते हैं। मकर संक्रांति सूर्य के उत्‍तरायण होने के अवसर पर मनाया जाता है।
मकर संस्‍कृत का शब्‍द है जो एक राशि का नाम है और संक्रांति का मतलब है परिवर्तन। इस तरह यह शीत ऋतु के दौरान उत्‍तरी गोलार्ध में सूर्य का धनु राशि से मकर में परिवर्तन है। इस अवसर पर चावल, गुड़, हरे चने और तिल से बने पकवान बनाए जाते हैं।
मकर संक्रांति के उत्‍सव का उत्‍साह पारंपरिक विश्‍वास से गहराई से जुड़ा है। धर्मग्रंथ श्रीमदभगवत् गीता में भी उत्‍तरायण का महत्‍व ईश्‍वर से मिलने वाले आर्शीवाद और पृथ्‍वी पर श्रेष्‍ठता प्राप्‍त करने के उचित समय से जोड़ा गया है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन से निराशा दूर होती है और नए उत्‍साह का संचार होता है।
यह त्‍यौहार अच्‍छी फसल, खुशहाली और सौभाग्‍य प्रदान करने के लिए प्रकृति के प्रति आभार के तौर पर भी मनाया जाता है। गुजरात में  भी मकर संक्रांति  के अवसर पर  लोग पारंपरिक हर्षोल्‍लास के साथ पतंगें उड़ा रहे हैं। केन्‍द्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अमित शाह का भी आज अपने गृह नगर अहमदाबाद में मकर संक्रांति का उत्‍सव मनाने का कार्यक्रम है।
आंध्र प्रदेश में यह त्‍यौहार चार दिन चलता है और इसे वहां भोगी, संक्रांति, कानूमा और मुकानुमा के रूप में मनाया जाता है। समूचे राज्‍य में इस त्‍यौहार को मनाने की परंपरा मिली-जुली है। इस दौरान बड़ी संख्‍या में पतंगें उड़ाई जाती हैं, लोग नए कपड़ों, किताबों और घरेलू सामानों की खरीदारी करते हैं और तिल-गुड़ की विशेष मिठाईयां बनाते हैं।
धान का कटोरा  के रूप में जाने जानेवाले पूर्वी और पश्चिमी गोदावरी जिलों में यह त्‍यौहार बड़े स्‍तर पर मनाया जाता है। इस अवसर पर आंध्र के विभिन्‍न इलाकों में पतंग और रंगोली उत्‍सव मनाए जा रहे हैं।
उत्तर प्नरदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, बिहार, जम्मू, दिल्ली और अरुणाचल प्रदेश में मकर संक्रांति के नाम से प्रचलित ये पर्व अन्य राज्यों में इन नामों से जाना जाता है-
  • पंचाब, चंडीगढ़ और हरियाणा- लोहड़ी
  • झारखंड – टुसु पर्व
  • ओडिसा- मकरचौला
  • हिमाचल प्रदेश- माघ साजी
  • कश्मीर- शिशुर सेंक्रात
  • तमिलनाडु- पोंगल
  • आंध्र प्रदेश और तेलंगाना- भोगी पंडुगाई
  • असम, मेघालय और मिजोरम- माघी बिहू
  • पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा- पौश संक्रांति
  • ओडिसा- मकरचौला
  • मणिपुर- कंग्सुवि
  • केरल- मकर विलवक्कु
  • कर्नाटक- मकर संक्रमण
  • गुजरात- उत्तरायण पर्व
  • उत्तराखंड- उत्तरायणी औरप घुघुतीया त्यार

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *