एनडीए का दामन कुछ दिनों में छोड़ देगी लोजपा-उपेंद्र कुशवाहा

        
लोक जनशक्ति पार्टी के नेता व राम विलास पासवान के सांसद पुत्र की ओर से लोकसभा सीट बंटवारे पर सामने आए विवाद के बीच आरएलएसपी के सांसद व मोदी सरकार छोड़ चुके बिहार के कद्दावर नेता उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि उन्होंने भाजपा की एरोगेंसी और नितीश कुमार के कारण एनडीए छोड़ दी है. इन्हीं दोनों वजहों से लोक जनशक्ति पार्टी भी जल्द ही एनडीए का साथ छोड़ सकती है. उपेंद्र की चेतावनी से भाजपाई खेमे में खलबली मच सकती है. वजह, लोक जनशक्ति पार्टी के मुखिया राम विलास पासवान का रिकार्ड सत्ता के साथ है.

गौरतलब है कि राम विलास पासवान के सांसद पुत्र ने दो दिन पहले ही यह चेतावनी दी थी कि बिहार में लोकसभा की सीटों के बंटवारे से वह खुश नहीं हैं. बताया जा रहा है कि लोजपा बिहार से छह से सात सीटों पर दावेदारी कर रही है. 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन का हिस्सा होकर लोजपा ने पांच सीटों पर जीत हासिल की थी. इस बार वह संख्या बढ़ाना चाहती है. 
भाजपा और जदयू पहले ही 50-50 के फार्मूले पर बिहार में सीटों का समझौता कर चुके हैं. इसमें जदयू के कोटे से ही लोजपा को भी सीटें मिलनी हैं. सूत्र बताते हैं कि जदयू तीन से चार सीटें देने के लिए ही राजी है. जबकि लोजपा की मांग ज्यादा है. सीटों के अनबन के कारण ही उपेंद्र कुशवाहा ने भी एनडीए से पिछले सप्ताह नाता तोड़ लिया था.
हालांकि, एनडीए से नाता तोड़ने के बाद वह अकेले पड़ चुके हैं. तीन सांसदों में से एक उन्हें पार्टी में रहते हुए छोड़ चुके हैं. विधायकों ने भी उपेंद्र को झटका दे दिया है. एएनआई से बातचीत में उपेंद्र ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी छोटी पार्टियों को खत्म करना चाहती है. भाजपा की कई सहयोगी पार्टियां इसके पहले भी यह आरोप लगाती रही हैं. फिलहाल, विपक्षी गठबंधन के कुनबे के घटते-बढ़ते हिस्से को देखते हुए यह माना जा रहा है कि चुनाव के पहले भाजपा मतों के रुझान के आधार पर एनडीए के कुनबे को बढ़ाने की कोशिशें करेगी. पुराने साथियों में ज्यादातर को जोड़े रखने की कोशिशें हो सकती हैं लेकिन महाराष्ट्र में शिवसेना और बिहार में लोजपा भी चुनौती बनकर खड़ी हो रही हैं.

 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

NationalWheels will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.