Nationalwheels

धारा370 खत्म होने के बाद #लद्दाख बन सकता है सर्वाधिक पसंदीदा पर्यटन केंद्र

धारा370 खत्म होने के बाद #लद्दाख बन सकता है सर्वाधिक पसंदीदा पर्यटन केंद्र
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
धारा-370 और 35ए के खात्मे के साथ ही लद्दाख का अलग केंद्र शासित राज्य के रूप में गठन के बाद लद्दाख इन दिनों पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है. लद्दाख पहले से भी देश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन केंद्रों के रूप में शुमार रहा है. केंद्र सरकार के नए फैसले के बाद 31 अक्टूबर से लद्दाख अलग केंद्र शासित प्रदेश के रूप में भारत के नक्शे में दर्ज हो जाएगा. सरकार ने सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाती है. उसी दिन से लद्दाख का नया नक्शा देश के सामने होगा. इसके बाद लद्दाख का पर्यटन उद्योग भी कुलांचे मार सकता है. यहां सड़क, रेल और वायु मार्ग के जरिए पहुंचा जा सकता है. आइए बताते हैं कि आप कैसे अपने बजट में लद्दाख घूम सकते हैं.
सड़क मार्ग के जरिए-
लद्दाख जाने के लिए दो रूट निकलते हैं पहला श्रीनगर से लेह और दूसरा मनाली से लेह. श्रीनगर से लद्दाख जोजिला पास से होकर गुजरते हैं जबकि मनाली से लद्दाख रोहतांग पास से होकर पहुंचते हैं. आप यहां बाइक या कार के माध्यम से जा सकते हैं. इसके अलावा जम्मू, श्रीनगर और दिल्ली से लद्दाख के लिए सीधी बस चलती है.
रेलमार्ग के जरिए-
लद्दाख का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन ऊधमपुर या कटड़ा वैष्णोधाम है जो लद्दाख से करीब 640 किलोमीटर दूर है. इसके आगे जाने के लिए आपको टैक्सी या बस से सफर तय करना होगा. जम्मू तवी से लद्दाख पहुंचने में करीब दो दिन लगते हैं और टैक्सी का किराया करीब 9-10 हजार रुपए आता है.
वायुमार्ग के जरिए-
हवाई जहाज के जरिए आप बेहद कम समय में लद्दाख पहुंच सकते हैं. यहां जाने के लिए फ्लाइट्स की टाइमिंग सर्दियों और गर्मियों में अलग-अलग सुनिश्चित होती हैं. लेह कुशोक बकुला रिमपोची एयरपोर्ट यहां का मुख्य एयरपोर्ट है. यहां तक पहुंचने के लिए आपको करीब दो से तीन हजार रुपये चुकाने होंगे.

लद्दाख घूमने के लिए सबसे अच्छा समय-
लद्दाख जाने के लिए बेस्ट टूरिस्ट सीजन अप्रैल से अगस्त तक होता है. मौसम का तापमान कम होने की वजह से लोग गर्मियों में लद्दाख घूमना ज्यादा पसंद करते हैं. कुछ लोग विंटर सीजन में भी लद्दाख जाते हैं. सर्दियों में यहां की नदियां चादर ट्रैक में बदल जाती हैं.
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *