Nationalwheels

कानपुर के गोविंदपुरी आउटर पर घंटों नहीं फंसेंगी झांसी वाली ट्रेनें, गाड़ियों की बढ़ सकेगी रफ्तार

कानपुर के गोविंदपुरी आउटर पर घंटों नहीं फंसेंगी झांसी वाली ट्रेनें, गाड़ियों की बढ़ सकेगी रफ्तार

आने वाली ट्रेनों के यात्रियों को आउटर पर घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा. साथ ही मेन लाइन की ट्रेनों की गति में भी सुधार आने की संभवना है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
कानपुर के नजदीक दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर पड़ने वाले गोविन्दपुरी और भीमसेन ट्रैक के दोहरी कारण तथा गोविन्दपुरी में नए प्लेटफार्म एवं लूप लाइन के निर्माण से संबंधित नान इंटर लॉकिंग का कार्य पूरा कर लिया गया है अब झांसी से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों को आउटर पर घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा. साथ ही मेन लाइन की ट्रेनों की गति में भी सुधार आने की संभवना है.
रेलवे प्रशासन के अनुसार संरक्षित परिचालन एवं समय पालनता में सुधार के लिए गोविन्दपुरी-भीमसेन स्टेशन के मध्य ट्रैक दोहरीकरण का कार्य तथा गोविन्दपुरी स्टेशन पर नए प्लेटफार्म एवं 02 लूप लाइन का निर्माण किया जा रहा है. 03 दिसंबर 2019 से 11 जनवरी 2020 तक पूर्व नान इंटरलाकिंग का कार्य किया गया. 12 जनवरी 2020 को गोविन्दपुरी यार्ड में 06 घंटे (11:45 बजे से 17:45 बजे तक) का ब्लॉक लेकर नॉन इंटर लॉकिंग का कार्य सफलता पूर्वक किया गया. इसके कारण कारण कुछ गाड़ियों को निरस्त किया गया. कुछ गाड़ियों का मार्ग परिवर्तित किया गया तथा कुछ गाड़ियों को आंशिक रूप से निरस्त किया गया.
गोविन्दपुरी स्टेशन इलाहाबाद मंडल का एक महत्वपूर्ण स्टेशन है. नई दिल्ली एवं झाँसी की ओर से कानपुर सेंट्रल आने एवं जाने वाली गाड़ियाँ गोविन्दपुरी स्टेशन होकर ही आती जाती हैं. अभी तक गोविन्दपुरी स्टेशन पर मात्र 02 प्लेटफार्म हैं और गोविन्दपुरी स्टेशन से भीमसेन स्टेशन तक सिंगल लाइन है. वर्तमान में मुख्य लाइन पर क्रासिंग होने के कारण झांसी से आने वाली ट्रेनों को होल्डिंग लाइन पर बाहर इंतजार करना पड़ता है. वहाँ पर ट्रेन खड़ी होने के कारण बहुत से यात्री उतर जाते है, जिससे उनके लिए एक असुरक्षित स्थिति भी उत्पन्न होती है. मेन लाइन की व्यस्तता के कारण कई बार झांसी से आने वाली ट्रेनों को गोविंदपुरी से पहले घंटों इंतजार करना पड़ता है. इन लूप लाइनों के प्रारंभ होने के पश्चात, लूप लाइनों पर परिचालन के माध्यम से मेन लाइन को मुफ्त किया जा सकेगा. इससे ट्रेनों को आउटर पर नहीं रोकना पड़ेगा. झांसी वाली ट्रेनों को सीधे अप लाइन प्लेटफॉर्म (सामान्य लाइन) पर ले जाया जा सकेगा. इसके अतिरिक्त गोविंदपुरी स्टेशन में अप एवं डाउन लूप लाइन का निर्माण होने से लाइन क्षमता भी बढ़ जाएगी क्योंकि मालगाड़ियों को अप लाइन यार्ड से गोविंदपुरी स्टेशन लूप लाइन तक आसानी से बढ़ाया जा सकेगा.
गोविन्दपुरी स्टेशन पर 01 अतिरिक्त प्लेटफार्म एवं 02 लूप लाइन का निर्माण किया जा रहा है. इस कार्य के पूर्ण होने के पश्चात गोविंदपुरी स्टेशन पर प्लेटफार्मों की संख्या बढ़ कर तीन हो जाएगी. इससे अन्य गाड़ियों का ठहराव गोविंदपुरी स्टेशन पर दिया जा सकेगा. गोविंदपुरी स्टेशन पर पश्चिम की ओर मेन लाइन पर 03 डायमंड क्रासिंग है जो तेज़ गति से गाड़ियों के परिचालन के लिए शत प्रतिशत संरक्षित नहीं है. नान इंटर लाकिंग कार्य पूर्ण होते ही वर्तमान डायमंड क्रासिंग हट जाएंगी और नए क्रास ओवर सम्मिलित हो जाएगे, जिससे इस ट्रैक पर तेज़ गति से शत प्रतिशत संरक्षित परिचालन हो सकेगा. GMC की इंजन लाइन नंबर 9 को रनिंग लाइन में परिवर्तित किया जा रहा है जिससे पूर्ण लंबाई की इस अतिरिक्त रनिंग लाइन से जीएमसी यार्ड की लाइन क्षमता बढ़ जाएगी.
नान इंटर लाकिंग कार्य पूर्ण होने के पश्चात परिचालन में सुगमता आयेगी. कानपुर स्टेशन पर भीड़ कम करने में सहायता मिलेगी. कुछ ट्रेनों का ठहराव गोविंदपुरी स्टेशन पर दिए जाने पर विचार किया जा सकता है. लूप लाइनों के निर्माण के पश्चात कानपुर से झांसी/इटावा/फतेहपुर की ओर जाने वाली ट्रेनों का परिचालन गोविन्दपुरी स्टेशन से प्रारंभ किया जा सकता है. ट्रेन के कोचों में पानी भरने के लिए गोविन्दपुरी स्टेशन पर कोच वॉटरिंग की व्यवस्था को भी मंजूरी दी गई है. इससे गोविंदपुरी स्टेशन पर भी ट्रेनों में पानी भरा जा सकेगा. पानी भरने के लिए कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर ज्यादा देर तक गाड़ियों को नहीं रोकना पड़ेगा. इससे कानपुर सेंट्रल पर भीड़ कम करने में मदद मिलेगी. कानपुर सेंट्रल से गोविंदपुरी स्टेशन तक मुख्य लाइन पर गैर-जरूरी परिचालन को कम किया जा सकेगा.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *