Nationalwheels

जेट एयरवेज ने भी बोइंग737 विमानों का संचालन रोका, दुनियाभर की एयरलाइंस में मचा है हड़कंप

जेट एयरवेज ने भी बोइंग737 विमानों का संचालन रोका, दुनियाभर की एयरलाइंस में मचा है हड़कंप
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
इथियोपिया में प्लेन क्रैश के बाद बोइंग737 मॉडल विमानों की सुरक्षा को लेकर दुनियाभर की हवाई सेवा उपलब्ध कराने वाली कंपनियों ने हंगामा बरपा दिया है. धीरे-धीरे दुनियाभर के कई देशों की कंपनियों ने हवाई जहाज बोइंग737 मैक्स की उड़ान बंद करने का फैसला लेना शुरू कर दिया है. भारत की निजी क्षेत्र की बड़ी कंपनी जेट एयरवेज ने यात्रियों की सुरक्षा का हवाला देते हुए बोइंग737 मैक्स को बंद करने का फैसला किया है.
प्राइवेट एविएशन कंपनी जेट एयरवेज ने उड़ान बंद करने को लेकर जारी बयान में कहा गया है कि तकनीकी खामियों पर बोइंग के साथ बातचीत जारी है. बता दें कि इथियोपियन एयरलाइंस का बोइंग-737 मैक्स-8 रविवार सुबह उड़ान भरने के बाद 8600 फीट की ऊंचाई तक पहुंचा. उसके बाद अचानक 441 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से नीचे आकर क्रैश हो गया था. इस विमान में सवार चार भारतीयों समेत 157 लोगों की मौत हो गई. यह विमान बोइंग 737 मैक्स-8 था. पांच महीने में यह दूसरा मौका है, जब बोइंग के इसी मॉडल का विमान क्रैश हुआ. इसके पहले इंडोनेशिया का भी एक बोइंग737 मॉडल विमान क्रैश हो चुका है.
बताते हैं कि बोइंग 737 मॉडल के दुनियाभर में 10 हजार प्लेन इस्तेमाल किए जा रहे हैं. वहीं, एयरबस के ए320 मॉडल के 8000 से ज्यादा विमान इस्तेमाल हो रहे हैं. बोइंग का 737 मैक्स-8 सबसे ज्यादा बिकने वाला पैसेंजर एयरक्राफ्ट है. कंपनी ने 2017 में इसे लॉन्च किया था. यह 50 साल पुराने बोइंग 737 का नया वर्जन है.
क्या बंद हो रहा है बोइंग 737 मैक्स

इथियोपिया में प्लेन क्रैश के बाद बोइंग को 777-एक्स मॉडल की लॉन्चिंग रोकनी पड़ी है. यह मैक्स 8 से भी बड़ा विमान है. इस विमान में 425 यात्री बैठ सकते हैं. इसकी लॉन्चिंग बुधवार को होनी थी. पहले 777 एक्स की डिलिवरी 2020 में होनी थी. चीनी कंपनियां बोइंग 737 मैक्स 8 की सबसे बड़ी उपभोक्ता हैं. देश में इस बोइंग 737 के 97 मॉडल का इस्तेमाल हो रहा है. ये विमान एयर चाइना, चाइना ईस्टर्न और चाइना सदर्न के बेड़े का हिस्सा हैं. तीनों कंपनियों ने मैक्स 8 विमानों का इस्तेमाल फिलहाल रोक दिया है.
इंडोनिशिया की विमानन कंपनी गरुड़ इंडोनेशिया को सरकार से बोइंग मैक्स-8 का अभी इस्तेमाल नहीं करने के निर्देश मिले हैं. गरुड़ एक और लॉयन एयर 10 बोइंग मैक्स-8 का इस्तेमाल करती है. कैरेबियाई कंपनी केयमैन एयरलाइन्स ने अस्थायी तौर पर बोइंग 737 मैक्स को ऑपरेशन्स से हटा लिया है.

भारत में कितने मैक्स बोइंग

भारत में जेट एयरवेज ने मैक्स श्रेणी के बोइंग को 225 विमानों का ऑर्डर दिया था. इनमें से कुछ की डिलिवरी हो चुकी है. जेट एयरवेज के बेड़े में अभी 8 मैक्स-8 विमान हैं. स्पाइसजेट ने भी 155 मैक्स-8 विमानों समेत 205 बोइंग प्लेन का ऑर्डर दिया है. स्पाइसजेट के पास अभी 13 मैक्स-8 विमान हैं.

इन देशों ने लगाई रोक

चीन, इथियोपिया की एयरलाइन्स ने इसका इस्तेमाल रोक दिया है. इंडोनिशिया की विमानन कंपनियों और कैरेबियाई कंपनी केयमैन एयरलाइन्स ने अस्थायी तौर पर बोइंग 737 मैक्स-8 को ऑपरेशन्स से हटा लिया है. रूस ने भी परिवहन मंत्रालय को इस पर विचार करने को कहा है. भारत में भी डीजीसीए ने संकेत दिए है कि वह इस प्लेन के इस्तेमाल के बारे में नए सुरक्षा निर्देश जारी कर सकता है.
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *