hindi news, धारा370 पर इसलिए डरे हुए थे गृहमंत्री अमित शाह, खुद उन्होंने ही किया ऐसा खुलासा

धारा370 पर इसलिए डरे हुए थे गृहमंत्री अमित शाह, खुद उन्होंने ही किया ऐसा खुलासा

hindi news, धारा370 पर इसलिए डरे हुए थे गृहमंत्री अमित शाह, खुद उन्होंने ही किया ऐसा खुलासा
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
कश्मीर से धारा 370 और 35ए को हटाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोर चुके और दूसरे सरदार पटेल की उपाधि से नवाजे जा रहे गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को ऐसा खुलासा किया कि लोग भौचक रह गए। धारा370 को राज्यसभा से भारी बहुमत से स्वीकृति दिलाने में सफलता के लिए अमित शाह की रणनीतियों को लेकर देशभर में चर्चा हो रही है लेकिन शाह ने खुलासा किया कि एक वक्त ऐसा भी आया जबकि वह राज्यसभा में इसे मंजूरी मिलने को लेकर आशंकित थे। अमित शाह ने कहा, “मेरे मन में भारत के गृह मंत्री के रूप में कोई भ्रम नहीं था कि अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद क्या होगा। मुझे विश्वास है कि जम्मू और कश्मीर विकास और समृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ेगा। फिर भी उच्च सदन में अनुच्छेद 370 पर प्रस्ताव पेश करते समय मुझे यह आशंका थी कि सदन कैसे कार्य करेगा, क्योंकि राज्यसभा में सरकार के पास बहुमत नहीं है।”
अमित शाह रविवार को चेन्नई में उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू की पुस्तक के विमोचन समारोह में पहुंचे थे। यहां उन्होंने धारा 370 से भाजपा नेता रहे वेंकैया नायडू के जुड़ाव पर भी बात रखी। श्री शाह ने कहा कि यह एक शुभ घटना है कि युवा नायडू ने अपनी युवावस्था में अनुच्छेद 370 के खिलाफ आंदोलन में भाग लिया था, जब प्रस्ताव पारित किया गया था तब वह उच्च सदन के अध्यक्ष थे। श्री शाह ने आगे कहा कि नायडू पिछले दो वर्षों में विदेशी प्रतिनिधिमंडलों से मिलने और 19 देशों का दौरा करके भारत के संदेश को दुनिया तक पहुंचाने में सक्रिय रहे हैं, जिनमें से कुछ देश पहले ऐसे हैं जो भारतीय उपराष्ट्रपति, राष्ट्रपति से मिले थे। 
अमित शाह ने कहा, “मैं एक आदर्श राजनीतिज्ञ और नेता के सम्मान में राजनीति के छात्र के रूप में यहां आया हूं। उनके जीवन की कहानी देश के युवाओं के लिए एक आदर्श है। जीवनभर के आचरण में एक किसान के बेटे से लेकर भारत के उपराष्ट्रपति और संसद के उच्च सदन के अध्यक्ष तक के लिए किया गया है। श्री शाह ने कहा कि स्मार्ट शहरों और प्रधानमंत्री आवास योजना की अवधारणा को शहरी विकास मंत्री के रूप में श्री नायडू के कार्यकाल के दौरान लॉन्च किया गया था और वे भारतीय शहरी परिदृश्य को बदल रहे थे। कृषि पृष्ठभूमि से होने के कारण श्री नायडू का देश भर के किसानों के साथ संपर्क और भारत की कृषि नीति को आकार देने में उनका योगदान सराहनीय है।
अनुच्छेद 370 पर राज्यसभा में चर्चा के दौरान उनकी तटस्थता और नेतृत्व के लिए उनकी प्रशंसा करते हुए श्री शाह ने सदन की कार्यवाही के संचालन में सदन की कार्यवाहियों को बनाए रखने और जम्मू-कश्मीर के संबंध में प्रस्तावों और विधेयकों को प्राप्त करने के लिए श्री नायडू को बधाई दी।
उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू की पुस्तक लिसनिंग, लर्निंग एंड लीडिंग केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने चेन्नई में लॉन्च की। यह पुस्तक भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के दो साल के कार्यकाल पर आधारित है। पुस्तक उपराष्ट्रपति के 330 सार्वजनिक कार्यक्रमों की झलक दिखाती है। श्री नायडू ने कहा कि यह पुस्तक भारत के उपराष्ट्रपति का पद संभालने के बाद उनके जीवन की झलक देती है। उन्होंने कहा, “मैंने राजनीति से संन्यास ले लिया है, लेकिन सार्वजनिक जीवन से नहीं थकता। सीखो, सीखो और सीखो। सीखना बंद न करें।” किसी के पास क्या करना है, उसके प्रति दृढ़ विश्वास और प्रतिबद्धता होनी चाहिए, जीवन में सफल होने के लिए धैर्य और अन्य लोगों के जीवन में बदलाव लाने के लिए एक उत्साह चाहिए।
श्री नायडू ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और सरकार को अनुच्छेद 370 के निरस्तीकरण के लिए बधाई दी। कहा, “यह समय की आवश्यकता थी और लंबे समय से इसकी मांग थी।” उपराष्ट्रपति नायडू ने कहा, “मुझे तमिलनाडु से विशेष प्रेम है। यह भारत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। तमिलनाडु देश में सांस्कृतिक विकास का अगुआ रहा है और मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि मैं चाहता था कि यह समारोह चेन्नई में आयोजित किया जाए। नायडू ने यह भी कहा कि किसी भी भाषा का कोई विरोध नहीं होना चाहिए, लेकिन किसी भी भाषा को किसी पर जबरन थोपा नहीं जाना चाहिए। 
कार्यक्रम में तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित, सूचना और प्रसारण, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, मुख्यमंत्री एडप्पाडी के. पलानीसामी द्वारा आयोजित किया गया था। 
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *