Nationalwheels

कश्मीर में हमले बढ़ाने के लिए हिज्बुल मुजाहिद्दीन प्रमुख सलाऊद्दीन पर पाकिस्तान में हमला, #ISI पर संदेह

कश्मीर में हमले बढ़ाने के लिए हिज्बुल मुजाहिद्दीन प्रमुख सलाऊद्दीन पर पाकिस्तान में हमला, #ISI पर संदेह
पाकिस्तान में भारत विरोधी आतंकी सरगना सैयद सलाहुद्दीन के एक हमले में घायल होने की सूचना है। अमेरिका के घोषित अंतरराष्ट्रीय आतंकी पर 25 मई को इस्लामाबाद में उसके आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के ठिकाने के नजदीक हमला हुआ। घायल सलाहुद्दीन को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। न्यूज एजेंसी आईएएनएस ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के उच्च अधिकारी के हवाले से दी है।
माना जा रहा है कि आतंकी सरगना पर यह हमला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने करवाया, जिसका उद्देश्य सलाहुद्दीन को भयभीत करना था, न कि उसकी हत्या करना। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी दशकों से उसका इस्तेमाल भारत विरोधी गतिविधियों के लिए कर रही है। मूल रूप से जम्मू-कश्मीर का रहने वाला मुहम्मद यूसुफ शाह उर्फ सैयद सलाहुद्दीन दशकों पहले पाकिस्तान भाग गया था। इसके बाद उसने वहीं रहकर आइएसआइ की सरपरस्ती में भारत विरोधी गतिविधियों को चलाना शुरू कर दिया।

जम्‍मू-कश्‍मीर में हमले के बदले मिलती हैं सुविधाएं

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के जरिये वह जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदातों को अंजाम दिलवाता था। बदले में पाकिस्तान से तमाम सुविधाएं हासिल करता था। लेकिन हाल के महीनों में जम्मू-कश्मीर में बदले हालात से उसके संगठन का काम करना मुश्किल हो गया।
खबरों में यह भी कहा गया है कि भारत में उसके भेजे आतंकी बड़ी संख्या में भारतीय सेना और सुरक्षा बलों के हाथों ढेर कर दिए गए हैं। इसके कारण नए सदस्यों की भर्ती मुश्किल हो गई। बताते हैं कि सुरक्षा बलों के कसते घेरे के कारण आतंकियों में भी खौफ का माहौल है। हाल में कश्मीर में मारा गया आतंकी रियाज नायकू हिजबुल मुजाहिदीन का ही कमांडर था। कश्मीर में आतंकी वारदातों में कमी आने पर आइएसआइ ने सलाहुद्दीन पर गतिविधियां बढ़ाने के लिए दबाव बढ़ा दिया है।

हमला कर बनाया जा रहा है दबाव

माना जा रहा है कि इसी दबाव की रणनीति के चलते ही सलाहुद्दीन पर हमला कर उसे डराया गया है। सलाहुद्दीन वर्षो से पाकिस्तान समर्थक और भारत विरोधी आतंकी संगठनों के गठजोड़- यूनाइटेड जिहाद काउंसिल का प्रमुख है। सलाहुद्दीन के परिजन भारत में रहते हैं लेकिन वह पाकिस्तान में रहकर भारत को नुकसान पहुंचाने वाली आतंकी गतिविधियां चलाता है।
सैयद सलाहुद्दीन जम्‍मू-कश्‍मीर के बड़गाम का रहने वाला है। उसका जन्‍म 18 फरवरी 1946 को बड़गाम में हुआ था। वह 1987 में जम्‍मू-कश्‍मीर में चुनाव भी लड़ चुका है, लेकिन वह हार गया था। 74 वर्षीय सलाउद्दीन पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर में रहता है। सैयद सलाहुद्दीन को अमेरिका ने अमेरिका ने वैश्विक आतंकवादी घोषित कर रखा है। सलाहुद्दीन कश्मीरी आतंकियों को ट्रेनिंग देता है। सलाहुद्दीन कभी पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में रहता है तो कभी पाकिस्तान में। उसकी पत्नी हिंदुस्तान में ही रहती है।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *