Nationalwheels

इलेक्ट्रॉनिक सामानों के विनिर्माण और निर्यात अनुकूल वातावरण बनाने में सरकार करेगी मदद- पीयुष गोयल

इलेक्ट्रॉनिक सामानों के विनिर्माण और निर्यात अनुकूल वातावरण बनाने में सरकार करेगी मदद- पीयुष गोयल
केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि उनका मंत्रालय टेलीविजन सेट, क्लोज्ड सर्किट टीवी, एयर कंडीशनर्स आदि चुनिंदा इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों की पहचान पर विचार कर रहा है, जिनका भारत में व्यापक स्तर पर विनिर्माण हो सकता है और बड़ी मात्रा में निर्यात किया जा सकता है। इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर निर्यात संवर्धन परिषद (ईएससी) के सदस्यों के साथ आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संवाद करते हुए केन्द्रीय मंत्री ने उद्योगों से ऐसे उत्पादों और नीतिगत दखल के संबंध में विशेष सुझाव देने का आह्वान किया, जो उन्हें प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए जरूरी हैं। सरकार ऐसे उत्पादों के विनिर्माण और निर्यात के लिए एक अनुकूल माहौल तैयार करने में सहायता करेगी।
इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर क्षेत्र से नवाचार, आरएंडडी, घरेलू पहुंच बढ़ाने और निर्यात बढ़ाने का आह्वान करते हुए मंत्री ने कहा कि ऐसे उद्योगों ने अपनी अलग पहचान बनाई है, जो ज्यादा आत्मनिर्भर हैं और बिना सरकार के समर्थन के आगे बढ़े हैं। उन्होंने मिसाल के रूप में आईटी, आईटीईएस और बीपीओ क्षेत्रों का नाम लिया, जिन्होंने समाधान प्रदाता और निर्यातक के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत बनाया है। मंत्री ने कहा कि भारत से निर्यात योजना (एमईआईएस) जैसे विशेष प्रोत्साहनों पर निर्भर रहकर उत्पादों को प्रतिस्पर्धी नहीं बनाया जा सकता, क्योंकि ऐसी योजनाएं समयबद्ध होती हैं और उन्हें अपनी ताकत के दम पर ही निर्यात में प्रतिस्पर्धी बनना चाहिए।
उन्होंने नेशनल मिशन ऑन क्वांटम टेक्नोलॉजिस एंड एप्लीकेशंस (एनएम-क्यूटीए) के कार्यान्वयन में उद्योग और सरकार के साथ आने की आवश्यकता पर भी जोर दिया, जिसे कम्प्यूटिंग, संचार, सेंसिंग, रसायन विज्ञान, क्रिप्टोग्राफी, इमेजिंग और मैकेनिक्स की अत्यधिक जटिल समस्याओं के इंजीनियरिंग समाधान के लिए उपयोग किया जाता है।
देश से सॉफ्टवेयर और सेवाओं के निर्यात के लिए गुणवत्ता और सटीक डाटा की जरूरत का उल्लेख करते हुए श्री गोयल ने कहा कि उनका मंत्रालय आरबीआई के साथ इस मुद्दे पर काम कर रहा है। इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर क्षेत्र में पूरे समर्थन का भरोसा दिलाते हुए कहा कि उद्योग पिछले दो साल से स्वदेशी उत्पादन को बढ़ा रहा है और प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान पर सेक्टर के इस दिशा में और बढ़ने का अनुमान है। प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के विजन को आगे बढ़ाने के लिए सरकार और उद्योग के बीच भरोसे की आवश्यकता पर जोर देते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि व्यवसाय की असीम संभावनाओं को भुनाने के लिए दोनों को मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, “यह सरकार उद्योग को उपयुक्त माहौल देने की दिशा में काम कर रही है और न सिर्फ नई क्षमताएं विकसित करके, बल्कि भारतीय उत्पादों को विश्व स्तरीय बनाकर सुनहरा भविष्य तैयार करने का काम उद्योग का है और यही आत्मनिर्भर भारत का सार है।”
केन्द्रीय मंत्री ने भारत का इलेक्ट्रॉनिक्स हार्डवेयर और कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर निर्यात बढ़ाने के लिए ईएससी द्वारा तैयार रणनीतिक पेपर का अनावरण किया। इस पेपर में इन दो क्षेत्रों से भारत का निर्यात बढ़ाने के लिए कई सुझाव भी शामिल किए गए हैं।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *