Nationalwheels

मूत्र इकट्ठा करें, देश में उर्वरक आयात की आवश्यकता नहीं पड़ेगी- नितिन गडकरी

मूत्र इकट्ठा करें, देश में उर्वरक आयात की आवश्यकता नहीं पड़ेगी- नितिन गडकरी
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
नए विचारों को अमली जामा पहनाने के लिए मोदी मंत्रिमंडल में अलग पहचान रखने वाले मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि देश में मूत्र से यूरिया निर्माण होना चाहिए. यदि ऐसा होता है तो हमें उर्वरक आयात की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. वरिष्ठ मंत्री ने बताया, ‘‘मैंने हवाई अड्डों पर मूत्र को एकत्र करने को कहा है. हम यूरिया आयात करते हैं, लेकिन अगर हम पूरे देश में मूत्र इकट्ठा करना प्रारंभ कर दें तो हमें यूरिया के आयात की आवश्यकता ही नहीं होगी. इसमें इतनी क्षमता है और कुछ भी नष्ट नहीं होगा.’’
नागपुर में नगर निगम के मेयर इनोवेशन अवाडर्स कार्यक्रम में उन्होंने एक मिसाल देते हुए कहा कि किस प्रकार प्राकृतिक कचरे से बायो-ईंधन बनाया गया. उन्होंने कहा कि मानव मूत्र जैव-ईंधन बनाने में लाभप्रद हो सकता है और इसका प्रयोग अमोनियम सल्फेट और नाइट्रोजन प्राप्त करने में किया जा सकता है.

इसके पहले रविवार को ही झांसी में हुए सड़क विकास परियोजनाओं का शिलान्यास करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की कि 550 किमी लंबी बेतवा नदी पर जलमार्ग बनाया जाएगा. नितिन गडकरी ने यह भी कहा कि मैं वह नेता नहीं हूं जो लोगों को केवल सपने दिखाते हैं. मैं सपनों को पूरा भी करता हूं. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने 600 करोड़ से अधिक की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया.
नितिन गडकरी ने कहा कि मैं आपको केवल सपने नहीं दिखाऊंगा, बल्कि उन सपनों को सच भी करूंगा. इसके साथ ही उन्होंने मंच से ही जलमार्ग की घोषणा पर डीपीआर तैयार करने के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि बेतवा मध्य प्रदेश के होशंगाबाद से शुरू होकर उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में पहुंचकर यमुना में मिलती है. इस पर जलमार्ग बन जाने से आवागमन बेहद सस्ता और सुगम हो जाएगा.
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *