Nationalwheels

पत्नी, बेटे और बहनोई के सामने खाक हुआ गैंगेस्टर विकास

पत्नी, बेटे और बहनोई के सामने खाक हुआ गैंगेस्टर  विकास
कानपुर में बिल्हौर सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की आठ दिन पहले अपने गांव बिकरू में नक्सली अंदाज में गोलियां बरसाकर हत्या करने वाले दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को आठवें दिन ही पुलिस और एसटीएफ की टीम ने मार गिराया। पांच लाख रुपये इनामी हिस्ट्रीशीटर को गुरुवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस का दावा है कि एमपी से कोर्ट में पेशी के लिए लाते वक्त कानपुर शहर से पहले ही सचेंडी थाना क्षेत्र में बेसहारा जानवरों को बचाने के चक्कर में एसटीएफ की कार पलटी तो कुछ पल के लिए पुलिसकर्मी हल्की बेहोशी की हालत में आ गए। दुर्घटना का फायदा उठाकर विकास इंस्पेक्टर नवाबगंज की पिस्टल छीनकर भागा। पीछे से आई दूसरी टीम ने उसे दौड़ाया। इस दौरान जवाबी मुठभेड़ में एसटीएफ और पुलिस टीम ने उसे ढेर कर दिया। मुठभेड़ में एसटीएफ के दो जवान भी घायल हैं।
दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के फरीदाबाद में दिखने के बाद अचानक गुरुवार को नाटकीय अंदाज में उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में उसे दबोच लिया गया। गुरुवार रात एसटीएफ के सीओ तेजबहादुर सिंह के नेतृत्व में टीयूवी-300 कार से विकास दुबे को उज्जैन से झांसी, जालौन होते हुए कानपुर पेशी के लिए लाया जा रहा था। एडीजी कानपुर जयनारायन सिंह और एसटीएफ लखनऊ के मुताबिक सुबह साढ़े छह बजे शहर से करीब 12 किलोमीटर पहले सचेंडी थाना क्षेत्र स्थित कन्हैया लाल अस्पताल के सामने तेज बारिश के बीच सड़क पर भैंसों-गायों का झुंड आ गया। इन्हें बचाने के लिए मोड़ी गई टीयूवी कार अचानक पलट गई। कार सवार इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी, सब इंस्पेक्टर पंकज सिंह व अनूप सिंह, कांस्टेबल सत्यवीर व प्रदीप कुमार घायल हो गए।
एसटीएफ के मुताबिक इंस्पेक्टर की पिस्टल लेकर भागने पर विकास दुबे का पीछा किया। एसटीएफ के मुताबिक विकास ने गोली चलाई, जिसमें हेड कांस्टेबल शिवेंद्र सिंह व कांस्टेबल विमल यादव घायल हो गए। जवाबी फायरिंग में विकास भी घायल हो गए। उसे तुरंत हैलट अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उसके पास से इंस्पेक्टर की लूटी गई पिस्टल व दो खोखा बरामद किए गए हैं। विकास पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण, डकैती जैसे 60 संगीन मुकदमे दर्ज थे। वह आठ दिन में यूपी का नंबर वन बदमाश हो गया था।
डॉक्टरों ने बताया कि गोलियां लगने से विकास का दिल, गुर्दा व लिवर क्षतिग्रस्त हो गया था। इससे अत्यधिक खून बहा और उसकी मौत हो गई। तकरीबन पौन घंटे चले पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई।
कोरोना जांच के बाद हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के पोस्टमार्टम के बाद पुलिस शव देने का इंतजार करती रही, लेकिन कोई पहुंचा ही नहीं। पंचनामा भरने की प्रक्रिया में शामिल रहे विकास के बहनोई दिनेश तिवारी ने भी आने से मना कर दिया। हालांकि, देर शाम पौने सात बजे वह शव लेने पहुंच गए। भैरों घाट स्थित विद्युत शवदाह गृह से अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान पत्नी ऋचा दुबे व अन्य स्वजन मौजूद रहे।
यूपी एसटीएफ ने हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे मुठभेड़ मामले में प्रेस नोट जारी किया है, जिसमें बताया गया है कि एसटीएफ के वाहन के सामने मवेशियों का एक झुंड आ गया था, जिसके कारण गाड़ी की दुर्घटना हो गई। पुलिस ने उसे जिंदा पकड़ने के लिए उसके करीब जाने की कोशिश की, लेकिन वह गोलियां चलाता रहा। पुलिस ने आत्मरक्षा में पलटवार किया।
-कानपुर के बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे व उसके गुर्गों के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हुए गोरखपुर में गोला क्षेत्र के बेलपार पाठक निवासी व कानपुर में तैनात दारोगा सुधाकर पांडेय स्वस्थ होकर अपने गांव आए हैं। सुबह मुठभेड़ में विकास दुबे के मारे जाने के बाद सुधाकर पांडेय और उनका परिवार काफी खुश है। विकास के मारे जाने पर उन्होंने सत्यनारायण व्रत कथा सुनी।
समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार कानपुर के हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद बिकारू गांव में लोगों ने मिठाइयां बांटी स्थानीय लोगों का कहना है, ‘यह पूरा इलाका आज बहुत खुश है। ऐसा लगता है जैसे हम आखिरकार आजाद हो गए हैं। यह आतंक के युग का अंत है। हर कोई बहुत खुश है।’
उधर, विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल खड़े करते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश को अपराध प्रदेश बना दिया है। विकास दुबे जैसे अपराधी सत्ता के लोगों द्वारा पनपते और फलते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस पूरे प्रकरण पर सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच की मांग करती है।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *