Nationalwheels

चौथा चरण मतदानः 71 सीटों में से 56 सांसदों वाली भाजपा के लिए महत्वपूर्ण

चौथा चरण मतदानः 71 सीटों में से 56 सांसदों वाली भाजपा के लिए महत्वपूर्ण
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
दिल्ली के तख्त-ए-ताउस के लिए चल रहे लोकसभा चुनावों के चौथे चरण का मतदान सोमवार को होना है. चौथे चरण की ज्यादातर सीटें हिन्दी पट्टी में हैं. कुल 71 सीटों में 56 सांसद भारतीय जनता पार्टी के हैं. 2014 के लोकसभा चुनावों में इन 71 में से 56 सीटों पर उन्हें जीत मिली थी. इसमें भी राजस्थान और मध्य प्रदेश की 54 सीटें हैं जिनमें से 52 सीटें भाजपा ने जीती थीं. शेष 16 सीटों में से दो पर कांग्रेस को जीत मिली थी, जबकि तृणमूल कांग्रेस (छह) और बीजद (छह) जैसी विपक्षी पार्टियों के खाते में गई थी.
सोमवार को महाराष्ट्र की 17, राजस्थान और उत्तर प्रदेश की 13-13, पश्चिम बंगाल की आठ, मध्य प्रदेश और ओड़िशा की छह-छह, बिहार की पांच और झारखंड की तीन सीटों पर मतदान होगा. इसके अलावा, जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट पर भी वोट डाले जाएंगे. अनंतनाग सीट पर तीन चरणों में मतदान कराया जा रहा है.
पिछले साल राजस्थान और मध्य प्रदेश की सत्ता में वापसी कर कांग्रेस ने अपनी स्थिति 2014 के मुकाबले काफी मजबूत कर ली है. लोकसभा चुनावों के पहले तीन चरणों में 302 सीटों पर मतदान हो चुका है, जबकि अंतिम तीन चरणों में 168 सीटों पर मतदान होगा.
चौथे चरण में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह, सुभाष भामरे, एसएस आहलूवालिया और बाबुल सुप्रियो तथा पूर्व केंद्रीय मंत्रियों और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद और अधीर रंजन चौधरी सहित 961 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत ईवीएम में कैद होगी. इस चरण में करीब 12.79 करोड़ वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.
भाकपा के कन्हैया कुमार, बीजेपी के बैजयंत पांडा, कांग्रेस की उर्मिला मातोंडकर, समाजवादी पार्टी की डिंपल यादव, तृणमूल कांग्रेस की शताब्दी रॉय और कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा सहित कई अन्य उम्मीदवार भी चौथे चरण में चुनाव लड़ रहे नामी चेहरों में शामिल हैं. चुनाव आयोग ने 1.40 लाख मतदान केंद्र बनाए हैं और सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं.
चौथे चरण के चुनाव के साथ ही महाराष्ट्र की सभी सीटों पर चुनाव संपन्न हो जाएगा. राज्य में विपक्षी कांग्रेस को उत्तरी महाराष्ट्र और मुंबई में अपना खोया जनसमर्थन फिर से हासिल करने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है. कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी को भी ठाणे जिले और पश्चिमी महाराष्ट्र में फिर से वापसी का इंतजार है. चौथे चरण में महाराष्ट्र की जिन 17 सीटों पर मतदान होना है, वे सभी सीटें 2014 में बीजेपी ने जीती थी.
राजस्थान में सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत, जयपुर के पूर्व राज परिवार की सदस्य दीया कुमारी और दो केंद्रीय मंत्री सहित 115 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद होगी. जोधपुर सीट पर वैभव का मुकाबला केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से है. राजस्थान की सभी 25 लोकसभा सीटों पर 2014 में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी, लेकिन अब कांग्रेस वापसी की पुरजोर कोशिश कर रही है.
उत्तर प्रदेश में सोमवार को जिन 13 सीटों पर मतदान होना है, उनमें ज्यादातर पर बीजेपी और सपा-बसपा गठबंधन के बीच सीधी टक्कर है. कन्नौज सीट सपा के लिए प्रतिष्ठा का विषय है, क्योंकि अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव इस सीट से पार्टी की उम्मीदवार हैं. 2014 में बीजेपी ने इन 13 सीटों में से 12 पर जीत दर्ज की थी. तीन सीटों उन्नाव, फर्रुखाबाद और कानपुर पर कांग्रेस की अच्छी मौजूदगी है. अनु टंडन उन्नाव, सलमान खुर्शीद फर्रुखाबाद और श्रीप्रकाश जायसवाल कानपुर से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.
पश्चिम बंगाल के चार जिलों में फैली आठ लोकसभा सीटों पर सोमवार को मतदान होंगे. इन सीटों पर तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी, कांग्रेस और वाम मोर्चा के बीच चतुष्कोणीय मुकाबला है. ओड़िशा की जिन छह सीटों पर मतदान होगा, उन पर 2014 में बीजद ने जीत दर्ज की थी. लेकिन इस बार बीजेपी बीजद के जनाधार में सेंध लगाने की पूरी कोशिश कर रही है. राज्य की 41 विधानसभा सीटों पर भी सोमवार को मतदान होना है. ओड़िशा में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा के भी चुनाव हो रहे हैं. राज्य में कुल 147 विधानसभा सीटें हैं.
बिहार में सोमवार को जिन पांच लोकसभा सीटों पर मतदान होना है, वे सभी सीटें अभी बीजेपी और उनकी सहयोगी पार्टियों के पास हैं.  मध्य प्रदेश की छह सीटों पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच सीधी टक्कर होने के आसार हैं. छिंदवाड़ा सीट से नौ बार लोकसभा सांसद रह चुके मुख्यमंत्री कमलनाथ विधानसभा उप-चुनाव जबकि उनके बेटे नकुल नाथ लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं झारखंड की जिन तीन सीटों पर सोमवार को मतदान होना है, उन पर 45.26 लाख से ज्यादा वोटर 59 उम्मीदवारों की किस्मत तय करेंगे. केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत लोहरदगा (एसटी) सीट से किस्मत आजमा रहे हैं.
जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट के हिस्से कुलगाम जिले में सोमवार को मतदान होगा. अनंतनाग सीट चार जिलों अनंतनाग, कुलगाम, शोपियां और पुलवामा में फैली हुई है, जिसमें कुल 16 विधानसभा क्षेत्र हैं. सुरक्षा कारणों से अनंतनाग सीट पर तीन चरण में मतदान कराए जा रहे हैं.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *