National Wheels

Shukrawar Upay: सुखी वैवाहिक जीवन पाने के लिए शुक्रवार को करें ये अचूक उपाय, बना रहेगा हमेशा प्यार

Shukrawar Upay: सुखी वैवाहिक जीवन पाने के लिए शुक्रवार को करें ये अचूक उपाय, बना रहेगा हमेशा प्यार

हर युवक-युवती की शादी को लेकर ढेरों सपने होते हैं। खुशहाल वैवाहिक जीवन की इस नाजुक की डोर को संभालने की हर तरह से जतन करते हैं। लेकिन इसके बावजूद कई बार शादीशुदा जिंदगी में कई तरह की परेशानियां आकर खड़ी हो जाती हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कई बार पति-पत्नी की ग्रह दशा, कुंडली का न मिलना, आपसी समझ की कमी सहित कई कारण हो सकते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लाल किताब में कई उपाय बताए गए हैं। जिन्हें अपनाकर दांपत्य जीवन को खुशहाल बना सकते हैं।

अगर आपके वैवाहिक जीवन में किसी की बुरी नजर लग गई है तो नजर दोष से छुटकारा पाने के लिए शुक्रवार को एक मिट्टी के दीपक में दो कपूर के टुकड़े रखकर जला लें। इसके बाद इसे पूरे घर में दिखाते हुए बाहर कर दें। इससे फिर दांपत्य जीवन में मधुरता बढ़ जाएगी।

अगर जीवनसाथी का स्वास्थ्य हमेशा खराब रहता है। एक बीमारी से पीछा छूटा नहीं कि दूसरी घेर लेती है तो शुक्रवार के दिन एक कटोरी जौ से बना हुआ सत्तू लें और इसे रोगी को छूआकर किसी को दान कर लें। इससे आपका जीवनसाथी जल्द ही सही हो जाएगा।

घर की कलह को दूर करने के लिए शुक्रवार को माता लक्ष्मी के मंदिर जाकर उनकी विधि-विधान से पूजा करें। इसके साथ ही घी का दान करें। मां लक्ष्मी के आशीर्वाद से घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहेगी।

शादी से पहले करें ये उपाय

अगर अभी आपको अच्छे जीवनसाथी की तलाश है तो शुक्रवार के दिन शुक्राचार्य के इस मंत्र का 108 बार जाप करें- ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:। इसके साथ ही किसी मंदिर में जाकर इत्र दान कर दें। इससे आपको अच्छा जीवनसाथी मिलेगा और दांपत्य जीवन सुखी बीतेगा।

बेटी की विदाई के समय पीतल के बर्तन में पानी लेकर और उसमें थोड़ी हल्दी और एक तांबे का सिक्का डाल दें। इसके बाद बेटी के ऊपर से सात बार उतार कर फेंक दें। इससे बेटी का वैवाहिक जीवन हमेशा खुशहाल रहेगा।

Pic Credit- Freepik

डिसक्लेमर’

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.