Nationalwheels

उत्तर प्रदेश में चुनार- चोपन खंड पर दौड़ी इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेन

उत्तर प्रदेश में चुनार- चोपन खंड पर दौड़ी इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेन

इलाहाबाद मंडल का चुनार-चोपन खंड कोयला खनन क्षेत्रों को देश के उत्तरी भाग से जोड़ने वाली एक महत्वपूर्ण  रेलवे लाइन है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद मंडल के अंतर्गत आने वाले उत्तर प्रदेश के सोनांचल क्षेत्र स्थित  चुनार-चोपन के नव विद्युतीकृत खंड पर विद्युत लोकोमोटिव द्वारा रेल परिचालन की शुरुआत रेल राज्य मंत्री सुरेश सी  अंगड़ी ने बंगलुरु से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से किया.
इलाहाबाद मंडल का चुनार-चोपन खंड कोयला खनन क्षेत्रों को देश के उत्तरी भाग से जोड़ने वाली एक महत्वपूर्ण  रेलवे लाइन है. यह खंड दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल लाइन की तुलना में झारखंड, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ से उत्तर प्रदेश को लगभग 200 किलोमीटर छोटे रेल मार्ग से जोड़ती है. इस रेल लिंक के महत्व को ही ध्यान में रखते हुए और यात्री एवं मालगाड़ी के थ्रू-पुट में वृद्धि करने की दृष्टि से इस 100 किमी के रेल खंड के विद्युतीकरण का कार्य रेल मंत्रालय द्वारा स्वीकृत किया गया था.
इस सिंगल लाइन सेक्शन का विद्युतीकरण कार्य 04 दिसंबर 2019 को पूरा हुआ. यह कार्य रेल विद्युतीकरण संगठन की दानापुर इकाई द्वारा रू 85.76 करोड़ की लागत से पूरा किया गया. इस खंड के विद्युतीकरण से झारखंड और देश के पूर्वी भाग से उत्तर और उत्तर पश्चिमी क्षेत्र के मध्य इलेक्ट्रिक से डीजल ट्रैक्शन में बिना बदले रेल परिचालन सुनिश्चित किया जा सकेगा. इससे मालगाड़ियो के परिचालन समय में चार से छह घंटे की कमी लाई जा सकेगी. साथ ही इससे कोयला उत्पादन क्षेत्रों से देश के उत्तरी और उत्तरी पश्चिमी भाग में स्थित बिजली घरों को कोयले की समय पर उपलब्धता में मदद मिलेगी.
बेहतर थ्रूपुट के साथ ही इस खंड के विद्युतीकरण से  पारंपरिक यात्री ट्रेनों के स्थान पर मेन लाइन इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट (मेमू) के संचालन का मार्ग भी प्रशस्त हो सकेगा.
इस विद्युतीकृत खंड में अधिक यात्री और मालगाड़ियों के परिचालन से मेन लाइन के चुनार-पं दीन दयाल उपाध्याय सुपर सेचुरेटेड सेक्शन में परिचालन क्षमता की कमी को दूर करने में भी मदद मिलेगी.
चुनार-चोपन के इस नए विद्युतीकृत रेल खंड पर पहली विद्युत लोकोमोटिव चालित सवारी यात्री गाड़ी को मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय बंगलुरु से रेल राज्य मंत्री सुरेश सी अंगड़ी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया. उद्घाटन समारोह चुनार स्टेशन पर भी आयोजित किया गया था जिसमें सांसद लोक सभा अनुप्रिया पटेल, सांसद राज्यसभा राम शकल ने भाग लिया. मंडल रेल प्रबंधक इलाहाबाद अमिताभ और उत्तर मध्य रेलवे इलाहाबाद मंडल के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन भी इस समारोह में उपस्थित रहे.
100 रूट किलोमीटर के इस विद्युतीकृत  खंड पर चुनार और चोपन के बीच के 6 स्टेशन हैं जिनमें जिला मुख्यालय स्टेशन सोनभद्र भी शामिल हैं. सोनभद्र स्टेशन पर भी इसी तरह के उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया, जहां पहले इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव से चलने वाली पैसेंजर ट्रेन को सांसद पकौड़ी लाल कोल ने हरी झंडी  दिखाई. सोनभद्र स्टेशन पर आयोजित समारोह में रेलवे के अधिकारी, जनप्रतिनिधि और सोनभद्र क्षेत्र के आमजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे.
राज्य मंत्री सुरेश सी अंगड़ी ने कहा कि चुनार-चोपन रेलखंड के विद्युतीकरण से देश के पूर्वी और पूर्वी मध्य भाग से उत्तर भारत तक माल और यात्रियों के तीव्र परिवहन में सहायता मिलेगी. साथ ही यह उत्तर प्रदेश के सोनांचल क्षेत्र के समग्र विकास में भी मदद करेगा. अंगडी ने कहा कि विद्युत कर्षण के माध्यम से रेल संचालन न केवल तेज और किफायती है, बल्कि यह पर्यावरण के अनुकूल भी है.
भारतीय रेलवे पर 64298 आरकेएम के कुल ब्रॉड गेज नेटवर्क में से 37942 आरकेएम पहले से ही विद्युतीकृत है. रेल मंत्रालय द्वारा वर्ष 2023-24 तक शेष 28810 आरकेएम रेल मार्ग को भी विद्युतीकृत करने का एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया गया है. मिशन मोड में काम करते हुए भारतीय रेल 100% विद्युतीकरण लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रति वर्ष 5000 से अधिक आरकेएम ब्रॉड गेज मार्ग का विद्युतीकरण कर रही है.
महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे और उत्तर रेलवे राजीव चौधरी और अपर सदस्य (इलेक्ट्रिक) रेलवे बोर्ड मंजू गुप्ता ने भी उत्तर रेलवे मुख्यालय, बड़ौदा हाउस, नई दिल्ली से वीडियो लिंक के माध्यम से इस उद्घाटन समारोह में भाग लिया. इस अवसर पर मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए श्री चौधरी ने कहा कि रेल मार्ग विद्युतीकरण के साथ ही उत्तर मध्य रेलवे ने पर्यावरण संरक्षण के लिए 10 मेगावाट क्षमता से अधिक के सौर ऊर्जा संयंत्र लगाना, प्रति वर्ष 10 लाख से अधिक पौधरोपण, 3 फेज़ इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव में इनर्जी रीजनरेशन, एलईडी का अधिकाधिक उपयोग, LHB ट्रेनों का HOG से संचालन आदि, कार्य भी किए हैं.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *