Nationalwheels

राबर्ट वाड्रा से ईडी ने पांचवीं बार की पूछताछ

राबर्ट वाड्रा से ईडी ने पांचवीं बार की पूछताछ
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
ऐन आम चुनाव के ठीक पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा को शुक्रवार को पूछताछ के लिए फिर तलब किया. पिछले करीब एक महीने के दौरान वाड्रा से ईडी ने यह पांचवीं दफा पूछताछ की है. ईडी राजस्थान में संपत्ति की अवैध तरीके से की गई खरीद-फरोख्त को लेकर लगातार वाड्रा को तलब कर पूछताछ कर रही है. हालांकि, वाड्रा ने ईडी की कार्रवाई को राजनैतिक बदला कहकर विवादों में डाल दिया है.
अधिकारियों ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पांचवीं बार विदेश में कथित अवैध संपत्ति की खरीद-फरोख्त से जुड़े धनशोधन मामले में पेश हुए. उन्होंने कहा कि वाड्रा सुबह 11 बजे से पहले मध्य दिल्ली के जामनगर हाउस में एजेंसी के कार्यालय पहुंचे. वह इस मामले में चार बार पेश हो चुके हैं. पिछली 20 फरवरी को आखिरी बार उनसे पूछताछ की गई थी.
अधिकारियों का कहना है कि एजेंसी वाड्रा से दस्तावेजों और अन्य आरोपियों के बयान के आधार पर पूछताछ कर रही है. वाड्रा का बयान धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA)  की धारा-50 (अधिकारियों के सम्मन, दस्तावेजों के उत्पादन और सबूत देने के लिए अधिकार) दर्ज किया जा रहा है. पिछले सत्र के दौरान वाड्रा ने मामले के जांच अधिकारी (आईओ) को बताया था कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है. इसलिए, उनके बयान की रिकॉर्डिंग बंद कर दी गई थी.
ईडी के समक्ष वाड्रा की उपस्थिति एक आपराधिक शिकायत से संबंधित है जो कथित रूप से अवैध तरीके से विदेश में संपत्ति खरीदने के लिए मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों से जुड़ी है. इस महीने के शुरूआत से ईडी की टीम उनसे लगभग 26 घंटे तक पूछताछ कर चुकी है. ईडी की टीम ने शुरुआती दौर में आरोप लगाया था कि वाड्रा जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. इसके बाद उन्हें दिल्ली की एक अदालत ने केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा की जा रही जांच में सहयोग करने के लिए कहा था.
वाड्रा के खिलाफ ईडी का मामला लंदन स्थित संपत्ति की खरीद में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों से भी जुड़ा हुआ है. हालांकि, वाड्रा लगातार इस संपत्ति का वास्तविक मालिक होने से लगातार इनकार कर रहे हैं. यह संपत्ति 12 ब्रायनस्टन स्क्वायर में स्थित है और इसकी कीमत 1.9 मिलियन पाउंड आंकी गई है, जो कथित तौर पर “बेनामी” तरीके से रावर्ट वाड्रा के स्वामित्व में है.
पिछली सुनवाई में एजेंसी ने अदालत को बताया था कि उसे लंदन में विभिन्न नई संपत्तियों की जानकारी मिली थी जो वाड्रा की थीं. इनमें दो घर शामिल हैं. एक का मूल्य 5 मिलियन पाउंड और दूसरे का मूल्य 4 मिलियन पाउंड है. ईडी का दावा है कि वाड्रा की विदेशों में छह फ्लैट और अन्य संपत्ति हैं. इन संपत्तियों की खरीद यूपीए सरकार के दौरान सौदों में सरकारी मदद दिलाने के नाम पर ली गई दलाली की रकम से खऱीदी गई है.
हालांकि, वाड्रा ने अवैध विदेशी संपत्ति रखने के आरोप से इनकार किया है. इसे उनके खिलाफ एक राजनीतिक चुड़ैल का शिकार करार दिया है. उन्होंने कहा है कि राजनीतिक वजहों से उन्हें “घायल और परेशान” किया जा रहा है.
इस महीने की शुरुआत में ईडी के समक्ष उनकी पहली उपस्थिति ने उनकी पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा, जो हाल ही में पूर्वी उत्तर प्रदेश के कांग्रेस महासचिव प्रभारी नियुक्त की थी, के बाद राजनीतिक फेरबदल किया. उनके साथ जांच एजेंसी के कार्यालय में गए और एक और सवाल करने के बाद उन्हें उठाया. बीकानेर में कथित भूमि घोटाले से जुड़े एक अन्य मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में जयपुर में दो बार ईडी के सामने वाड्रा को भी पद से हटा दिया गया था. उनकी मां मौरीन ने भी एजेंसी द्वारा एक ही बयान के दौरान एक बार पूछताछ की थी.
Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *