Nationalwheels

वीवीपैट पर्चियों के मिलान के कारण शाम तक करना पड़ सकता है चुनाव परिणामों का इंतजार

वीवीपैट पर्चियों के मिलान के कारण शाम तक करना पड़ सकता है चुनाव परिणामों का इंतजार
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
लोकसभा चुनाव-2019 में देशभर में हुए 542 सीटों के लिए डाले गए मतों की गिनती गुरुवार सुबह आठ बजे से शुरू हो जाएगी. सभी राजनीतिक दलों और उनके प्रत्याशियों के समर्थक दिल थाम कर मतगणना के परिणामों का इंतजार कर रहे हैं लेकिन 2014 के बजाए इस बार परिणाम मिलने में देर भी हो सकती है. दरअसल, पहली बार ईवीएम गणना के साथ मतदाता सत्यापित पेपर ऑडिट पर्चियों (वीवीपैट) का मिलान किए जाने के कारण देर शाम तक परिणाम आने की संभावना है. 542 सीटों पर 8,000 से अधिक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं.
सात चरणों में हुये मतदान में 90.99 करोड़ मतदाताओं में से करीब 67.11 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है. भारतीय संसदीय चुनाव में यह सबसे अधिक मतदान है.
लोकसभा चुनाव में पहली बार ईवीएम के परिणामों का मिलान पेपर ट्रेल मशीनों से निकलने वाली पर्चियों से किया जाएगा. यह मिलान प्रति विधानसभा क्षेत्र में पांच मतदान केंद्रों में होगा. चुनाव आयोग ने अभी तक बृहस्पतिवार को होने वाली मतगणना के केन्द्रों की संख्या उपलब्ध नहीं कराई है. प्रक्रिया के मुताबिक, सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जाएगी.
ड्यूटी पर तैनात मतदाताओं (सर्विस वोटर) की संख्या करीब 18 लाख है. इनमें सशस्त्र बल, केन्द्रीय पुलिस बल और राज्य पुलिस बल के जवान शामिल हैं जो अपने संसदीय क्षेत्र से बाहर तैनात हैं. विदेश में भारतीय दूतावासों में पदस्थ राजनयिक और कर्मचारी भी सेवा मतदाता हैं. इन 18 लाख पंजीकृत मतदाताओं में से 16.49 लाख ने 17 मई को अपने अपने रिटर्निंग अधिकारियों को डाक मतपत्र भेज दिये थे.
चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि हाथों से डाक मतपत्रों को गिनने में कुछ घंटे का समय लगेगा. पेपर ट्रेल मशीनों से निकलने वाली पर्चियों को अंत में गिना जाएगा. कुल 543 लोकसभा सीटों में से 542 पर चुनाव हुए हैं. वेल्लोर लोकसभा सीट पर धन बल का अत्यधिक उपयोग किए जाने के आधार पर चुनाव आयोग ने चुनाव रद्द कर दिया था. इस सीट पर चुनाव के लिए नई तारीख का ऐलान नहीं हुआ है.
चुनाव लड़ने वाले प्रमुख नेताओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कई केंद्रीय मंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव शामिल हैं. गौरतलब है कि विपक्षी दल 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों के मिलान की मांग सुप्रीम कोर्ट में उठा रहे थे लेकिन आयोग ने कहा था कि 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की स्थिति में चुनाव परिणाम मिलने में दो से तीन दिन लग सकते हैं.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *