Nationalwheels

कोरोना का कहर : सावन के दूसरे सोमवार को भी सूना सूना रहा बाबा विश्वनाथ का दरबार

कोरोना का कहर : सावन के दूसरे सोमवार को भी सूना सूना रहा बाबा विश्वनाथ का दरबार
वाराणसी। भोले की नगरी काशी में सावन के महीने में बाबा भोले नाथ के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता ऐसा लगता था ,जो कभी टूटने का नाम नहीं लेता था। यदि दिन सोमवार का हो तो शिवलिंग पर जल चढ़ाने के लिए कई -कई किलोमीटर की लंबी लाइन लगती थी , सुरक्षा बलों को इन्हें संभालने में ही पसीने छूट जाते थे। हर-हर महादेव के नारे से आकाश गूंजता रहता था लेकिन इस कोरोना ने सबकुछ बदल दिया है। न भीड़ है और न ही भोले का उद्घोष। बैरिकेडिंग है लेकिन पुलिस आराम फरमा रही है क्योंकि श्रद्धालु ही नहीं हैं। लाइन में नाममात्र के लोग लगे हैं , ऐसा दृश्य कम से कम सावन में तो काशी विश्वनाथ मंदिर में नहीं दिखता था।
सावन के दूसरे सोमवार पर काशी विश्वनाथ के दरबार में भक्तों की भीड़ नदारद रही। करीब तीन किलोमीटर तक लगी बैरिकेडिंग भी पूरी तरह खाली रही। पहली बार काशी ने इस तरह का नजारा सावन के सोमवार के दिन देखा है। पहले सोमवार को सुबह 11 बजे तक लोगों की कतार दिखी थी लेकिन इस बार वह भी नहीं थी। कोरोना के बढ़ते कहर के कारण शनिवार और रविवार को आम लोगों के मंदिर में प्रवेश पर पूरी तरह पाबंदी थी। सोमवार की भोर में मंगला आरती के दौरान भी बाहरी लोगों को नहीं जाने दिया गया। सुबह पांच बजे से लोगों को मंदिर में प्रवेश मिलना शुरू हुआ। सुबह नौ बजे तक केवल 800 लोग ही मंदिर पहुंचे। जबकि हर साल इस समय तक 50 से 60 हजार लोग दर्शन कर चुके होते हैं।
भीड़ न होने से जो श्रद्धालु आए थे वो जरूर खुश दिखे। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ श्रद्धालुओं का मंदिर में आना जाना होता रहा। मंदिर प्रशासन की ओर से तीनों रास्तों पर थर्मल स्कैनिंग और सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई है। दर्शन को पहुंचे लोगों में भी ज्यादातर शहरी थे। जिले के बाहर से आने वालों भक्तों की संख्या नहीं के बराबर रही। माना जा रहा है कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लोगों ने आसपास के मंदिरों और घरों में ही दर्शन पूजन को तरजीह दी है। हालांकि काशी के अन्य बड़े शिवालयों को सावन के सोमवार को बंद रखा गया है। इससे छोटे शिव मंदिरों में ही दर्शन पूजन हुआ।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *