Nationalwheels

महाराष्ट्रः भीमा कोरेगांव की #NIA जांच पर भारी दबाव में सीएम उद्धव ठाकरे, NCP का ऐलान- SIT भी करेगी जांच

महाराष्ट्रः भीमा कोरेगांव की #NIA जांच पर भारी दबाव में सीएम उद्धव ठाकरे, NCP का ऐलान- SIT भी करेगी जांच

भीमा कोरेगांव मामले की एनआईए को जांच सौंपे जाने के मामले में महाराष्ट्र में सत्ता के बीच संघर्ष खुलकर सामने आ गया है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
भीमा कोरेगांव मामले की एनआईए को जांच सौंपे जाने के मामले में महाराष्ट्र में सत्ता के बीच संघर्ष खुलकर सामने आ गया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नक्सली हिंसा से जुड़ी यलगार परिषद और भीमा कोरेगांव मामले की जांच एनआईए को सौंप दी तो एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधने में देर नहीं लगाई. अब एनसीपी नेता और महाराष्ट्र में उद्धव सरकार के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि भीमा कोरेगांव और यलगार परिषद मामले की जांच महाराष्ट्र पुलिस की एसाआईटी भी करेगी.
महाराष्ट्र अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता नवाब मलिक ने कहा कि राज्य सरकार SIT के माध्यम से भीमा कोरेगांव मामले की समानांतर जांच करेगी. SIT के गठन पर हमारे गृह मंत्री जल्द ही फैसला करेंगे. यलगार परिषद और भीमा कोरेगांव को लेकर NIA को केस देने का फैसला हुआ है. NIA के ही कायदे में सेक्शन 10 में ये प्रावधान है कि राज्य सरकार समानांतर जांच कर सकती है और निश्चित तौर पर राज्य सरकार SIT (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम)के माध्यम से जांच करेगी.

ये है मामला

एससी/एसटी कानून को लेकर 2017 में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पूरे देश में प्रदर्शन हुए. महाराष्ट्र के कोरेगांव में भारी हिंसा हुई. पुणे पुलिस की जांच के दौरान इसमें नक्सली संगठनों से जुड़े यलगार परिषद का नाम भी सामने आया.. यलगार परिषद के सदस्यों और इससे सहानुभूति रखने वाले नेताओं और कई बड़े अधिवक्ताओं के नाम सामने आने के बाद प्रकरण ने राजनीतिक तूल भी ले लिया था. प्रकरण की सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई हुई. इस मामले में एनसीपी और कांग्रेस से जुड़े कुछ नेताओं के नाम भी चर्चा में बताए जा रहे थे.
पिछले महीने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मामले की जांच पुणे पुलिस से लेकर एनआईए को सौंप दी. इसके बाद ही सरकार के सहयोगी और सरकार बनाने के खेल के सबसे बड़े खिलाड़ी के तौर पर उभरे एनसीपी नेता शरद पवार ने महाराष्ट्र सरकार की जोरदार आलोचना की. बाद में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने मामले की जांच एनआईए को देने के फैसले को लेकर उद्धव ठाकरे की सराहना भी की थी. अब एनसीपी नेता के बयान के बाद माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे गहरे दबाव में हैं.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *