Nationalwheels

सीमाओं पर बढ़ी भीड़ तो सीएम केजरीवाल ने सप्ताहभर के लिए सील करा दी दिल्ली की सीमा

सीमाओं पर बढ़ी भीड़ तो सीएम केजरीवाल ने सप्ताहभर के लिए सील करा दी दिल्ली की सीमा
लॉकडाउन-5 के पहले ही दिन दिल्ली की सीमाओं पर लगी भारी भीड़ से चिंतित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली के भीतर कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में दिल्ली की सीमाओं को खोलने के लिए उन्होंने जनता से राय मांगी है।
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में इलाज मुफ्त है। इस कारण दिल्ली की सीमाएं खुलेंगी तो देश भर से लोग यहां आएंगे। ऐसे में 9000 से अधिक बेड जो दिल्लीवालों के लिए रखे गए हैं वो जल्द भर जाएंगे।
कहा कि दिल्ली सरकार इस मामले में किसी को इलाज के लिए मना नहीं करेगी, लेकिन कुछ लोगों का सुझाव है कि जब तक कोरोना महामारी है तब तक दिल्ली के लोगों के लिए ही बेड रिज़र्व रखे जाएं।
फिलहाल एक सप्ताह के लिए सीमाएं सील की जाएगी। अगले सप्ताह कर जनता सके सुझाव और एक्सपर्टों की राय के बाद इस पर फ़ैसला लिया जाएगा।
केजरीवाल ने कहा है कि जनता इस पर शुक्रवार 5 बजे तक अपनी राय दे सकती है।
व्हाट्सऐप के ज़रिए 880 000 7722 पर, ईमेल के ज़रिए [email protected] और अपना संदेश रिकॉर्ड कराने के लिए लोग 1031 पर फ़ोन कर सकते हैं।
केजरीवाल से कहा है कि अनलॉक 1 के साथ दिल्ली भी अब खुलने के लिए तैयार है. जो चीज़ें खुली रहेंगी वो हैं-
  • दिल्ली में अब सारी इंडस्ट्री खुल सकेंगी. नाई और सलून की दुकानें खोले जाएंगे।
  • ऑटो और ई-रिक्शा को लेकर केंद्र सरकार ने कोई प्रतिबंध नहीं रखा है तो दिल्ली सरकार भी इस पर कोई प्रतिबंध नहीं रखेगी. अब एक से अधिक लोग ऑटो और ई-रिक्शा में जा सकेंगे।
  • रात के 9 बजे से लेकर सवेरे 9 बजे तक केवल एसेन्शियन सेवाओं को भी बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी।
  • दिल्ली में किस अस्पताल में कितने बेड खाली हैं इसके बारे में दिल्ली सरकार एक मोबाइल ऐप जारी कर रहे हैं. वो डाउनलोड करने पर लोगों को इस बारे में जानकारी मिल सकेगी.
https://twitter.com/ArvindKejriwal/status/1267343093356883968

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *