Nationalwheels

#Chinavirus सूडान के 10 नागरिकों के पासपोर्ट जब्त, क्वारेंटाइन, लॉकडाउन के बाद होगी कार्रवाई

#Chinavirus सूडान के 10 नागरिकों के पासपोर्ट जब्त, क्वारेंटाइन, लॉकडाउन के बाद होगी कार्रवाई

पर्यटन वीजा पर भारत आकर धर्म प्रचार व धार्मिक सभा करने का है आरोप

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
पर्यटन वीजा पर भारत आकर धर्म प्रचार व धार्मिक सभा करने का है आरोप
 जीतेन्द्र श्रीवास्तव
सुल्तानपुर। चायनीज वायरस कोरोना महामारी के दौरान लॉक डाउन का अनुपालन न करने व वीजा नियमो का दुरुपयोग करने के आरोपी 10 सूडान नागरिकों के पासपोर्ट पुलिस ने जब्त कर लिए है। उन्हें कोरेनटाइन में रखा गया है जैसे ही लॉक डाउन खतम होगा उनके खिलाफ मुकदमे की कार्यवाही शुरू की जाएगी जिसमें गिरफ्तार किये जाने का भी प्राविधान है।
बताते चलें कि मार्च के पहले सप्ताह में इस्लाम धर्मावलंबी सूडान के दस नागरिकों,३ अनुवादकों व २ बिहार राज्य के निवासी स्थानीय खिदमतगारों की एक जमात दीनी तालीम की खातिर शहर के चौक स्थित एक मस्जिद में पहुंची।
भनक लगी तो प्रशासन के जिम्मेदार भी फौरी तौर पर सक्रिय हुए लेकिन महज हिदायत देकर ही पल्ला झाड़ किनारे हो गए। फिर मीडिया एक्टिव हुआ और एडीएम प्रशासन हर्षदेव पांडेय से इन सूडानी नागरिकों के विषय में जानना चाहा तो वे समुचित उत्तर देने के बजाय यह कहकर टाल दिया कि अभी दिखवाता हूं। मीडिया ने पड़ताल की तो पियारेपट्टी की जिस बेलाल मस्जिद में इन्हें ठहराने की बात प्रशासन कह रहा था, वहां भी ये नागरिक नहीं मिले। आसपास के मोहल्लेवासियों ने बताया कि, वे लोग तो कुछ दिन पहले ही यहां से खैराबाद के मदरसा जामे इस्लामिया जा चुके हैं। अब मीडिया टीम जामे इस्लामिया पहुंची। तब तक सभी 15 लोगों को 31 मार्च से 14 अप्रैल तक के लिए कोरेन टाइन किया जा चुका था। उनकी जांच रिपोर्ट में कोविड 19 का वायरस नेगेटिव पाया गया तो सबने राहत की सांस ली। बाद में स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से विदेशियों को जिला अस्पताल में लाकर भर्ती कराया गया जहां कोरेन टाइन की अवधि में रखें तो गए हैं।
उधर, कोतवाली नगर थाने में सभी पंद्रह लोगों के खिलाफ धारा 188 व महामारी निवारण अधिनियम का केस दर्ज किया गया जिसमें सूडानी नागरिकों के खिलाफ विदेशी अधिनियम की धारा 14 भी लगी है। आरोप है वीजा नियमो का उल्लंघन करके पर्यटन की बजाय ये लोग धर्म प्रचार व धार्मिक सम्मेलन कर रहे थे। मुकदमा दर्ज होने के बाद ही विवेचक ने इनके पासपोर्ट कब्जे में लिए और जब्ती की कर्यवाही भी अमल में लायी गयी है। कानून के जानकारों का कहना है कि पासपोर्ट जब्त होने के बाद विदेशी नागरिक का भ्रमण अवैध हो जाता है इसलिए उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। फिलहाल कोरेन टाइन व लॉक डाउन समाप्त होने के बाद ही मुकदमे की कार्यवाही में तेजी आएगी।

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *