Nationalwheels

#Chinavirus … अब कोरोना भी मुसलमान हुआ जाता है, लिखकर ट्रोल हुए प्रख्यात शायर मुनव्वर राना

#Chinavirus … अब कोरोना भी मुसलमान हुआ जाता है, लिखकर ट्रोल हुए प्रख्यात शायर मुनव्वर राना

घातक चीनी वायरस (कोरोना) न हिन्दू देखता है, न ईसाई देखता है और न ही मुसलमान देखता, जिसके खूम में फैल जाता है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
घातक चीनी वायरस (कोरोना) न हिन्दू देखता है, न ईसाई देखता है और न ही मुसलमान देखता, जिसके खूम में फैल जाता है, उसे बस ऊपर ही ले जाता है, जैसे दौर में निजामुद्दीन तबलीगी जमात से देशभर में बिखर गए तब्लीगियों ने देश में इस जानलेवा वायरस को फैलाने वाले करियर का काम तो किया ही। साथ ही देश में संकट के वक्त हिन्दू-मुस्लिम की बहस का राग भी छेड़ दिया है। तब्लीगियों की गलती मानने के बजाय तमाम नामचीन लोग भी इस बहस में कूद पड़े हैं कि इस पर धर्म का मुलम्मा चढ़ाया जा रहा है।
मशहूर शायर मुनव्वर राना ने भी इसी बहस के बीच दो पंक्तियां लिखकर सुर्खियां बटोरनी चाही लेकिन सोशल मीडिया पर उनका यह दांव उल्टा पड़ गया है। वह इस कदर ट्रोल हो रहे हैं कि ट्वीटर पर उन्हें समर्थक तक मिलने मुश्किल हो गए हैं। मुनव्वर राना ने लिखा है कि जो भी ये सुनता है हैरान हुआ जाता है, अब कोरोना भी मुसलमान हुआ जाता है।

मुनव्वर राना का यह ट्वीट करना था कि ट्रोलर्स ने जवाब में उन्हें बेपर्दा करना शुरू कर दिया। अजीत नाम से ट्वीट किया गया कि
लोग घरों में बैठे हैं और वो जमात लगाए बैठे हैं,
अब जो बेपर्दा हुए तो मजहब बीच में घुसाए बैठे हैं।
मिश्रा अनुमेहा ट्वीटर हैंडल से लिखा गया कि जहां इबादत में हाथ उठने थे, वहाँ पत्थर उठाए बैठे हैं, जिन का अहसान मान लेना था उन्हें ग़ाली सुनाए बैठे हैं, इंसानियत की चिंता होती तो यूँ मजमा ना लगाते, अब जो बेपर्दा हुए तो मजहब बीच में घुसाए बैठे हैं।

मनोज मुंतशिर ने ट्वीट किया कि मोहतरम मुनव्वर राना साहब, मुरीद हूं. आपका। इश्क करता हूं आपकी शायरी से, लेकिन आपके इस शेर ने दिल तोड़ दिया। आपने कलम का इस्तेमाल एक गलत बात पर पर्दा डालने के लिए और भावनाएं भड़काने के लिए किया। आप कब से हिन्दू-मुसलमान वाली जहनीयत का शिकार हो गए। अफसोस…

मनसा शर्मा ने टिकटॉक पर वायरल हुए एक वीडियो अपलोड किया है। इसमें एक मौलवी चीनी वायरस को लेकर मुसलमानों में फैलाई जा रही भ्रांतियों को लेकर अपने ही लोगों पर तंज कसा है। साथ ही निवेदन किया है कि लोग सरकार के बताए नियमों का पालन करें। इसमें लॉकडाउन के दौरान एक मौलाना पर पुलिस की लाठी पड़ने का वीडियो भी है।

अजय यादव ट्वीटर हैंडल से कुछ लाइनें लिखकर मुनव्वर राना को जवाब दिया गया है।
अगर चिढ़ते हैं तो चिढ़ने दो, मेहमान थोड़ी है
ये सब हैं जाहिल, अब्दुल कलाम थोड़ी है
फैलेगा कोरोना तो आएंगे घर कई ज़द्द में
यहाँ पे सिर्फ हमारा मकान थोड़ी है
मैं जानता हूँ देश उनका भी है
लेकिन हमारी तरह हथेली पे जान थोड़ी है

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *