Nationalwheels

#Chinavirus के रणबांकुरों के लिए देशभर में हुआ दीपों का उजाला

#Chinavirus के रणबांकुरों के लिए देशभर में हुआ दीपों का उजाला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर कोरोना को हराने और कोरोना फाइटर्स के समर्थन में पूरे देश ने एक साथ दीपों की जगमग से अंधेरी रात में उजाला भर दिया

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर कोरोना को हराने और कोरोना फाइटर्स के समर्थन में पूरे देश ने एक साथ दीपों की जगमग से अंधेरी रात में उजाला भर दिया। देशभर के 130 करोड़ भारतीयों ने घरों की लाइट बंद कर प्रधानमंत्री का समर्थन किया। इस दौरान कई जगहों पर सड़कों की स्ट्रीट लाइटें भी बंद कर दी गईं।

अयोध्या संवाददाता अजय सिन्हा के अनुसार राम नगरी मे भी दीपोत्सव जैसा माहौल रहा। घर, मंदिरों, सड़कों पर दीपक का प्रकाश दिखा। सभी धर्मों के लोगों ने दीप, मोमबत्ती, टार्च की रोशनी से प्रकाश कर पीएम के साथ खड़े होने का फर्ज निभाया। राम जन्मभूमि, हनुमानगढ़ी, कनक भवन, राम की पैड़ी में दीपक से प्रकाश किया गया। इस दौरान सभी ने घरों की बत्ती बंद रखी थी।

पीएम मोदी के आह्वान पर रविवार की रात 9 बजे घरों की लाइटों के साथ सड़कों की स्ट्रीट लाइटें भी बंद कर दी गईं। बड़ी संख्या में लोगों ने मिट्टी के दीप जलाए। कैंडल, टार्च, मोबाइल की रोशनी के साथ ही तमाम लोगों ने दीपावली जैसा जश्न मनाया। कई घरों में लोगों ने प्रभु श्रीराम से जुड़े संगीत और भजन भी बजाया। मंदिरों में भी जगह-जगह दीप जलाए गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, लोकसभा अध्यक्ष, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत भाजपा के राष्ट्रीय से लेकर वार्ड स्तर तक के नेताओं ने घरों के बाहर दीप जलाए।
प्रधानमंत्री के आह्वान पर लोगों ने कोविड-19 से जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही कोविड के फ्रंट लाइन फाइटर्स का उत्साह भी बढ़ाया। सोशल मीडिया के फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम समेत सभी प्लेटफार्म दीपों की जगमगाहट से रोशन है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों ने दीपोत्सव के दौरान तस्वीरें खींचकर सोशल मीडिया पर डाली। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान लोगों ने रखा।
प्रधानमंत्री ने अपील की थी कि मेरी एक और प्रार्थना है कि इस आयोजन के समय किसी को भी, कहीं पर भी इकट्ठा नहीं होना है। रास्तों में, गलियों या मोहल्लों में नहीं जाना है, अपने घर के दरवाज़े, बालकनी से ही इसे करना है। इसे ध्यान में रखकर लोग जनता कर्फ्यू के दिन की तरह इकट्ठा होने से भी बचे।

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *