Nationalwheels

टेक्नोलॉजी

उत्तराखंड में भारत नेट फ़ेज-2 को मिली मंज़ूरी, पहाड़ के 5591 ग्राम पंचायतों में पहुंचेगा इंटरनेट

केंद्रीय दूरसंचार मंत्रालय की महत्वाकांक्षी परियोजना भारत नेट में तेजी लायी जा रही है। इसके तहत उत्तराखंड में फेज-2 के…

ईरानी परमाणु विकास पर निगरानी के लिए इजरायल ने लांच किया नया खुफिया उपग्रह

JERUSALEM (रायटर) – इज़राइल ने सोमवार को एक नया जासूसी उपग्रह लॉन्च किया, जिसमें कहा गया कि वह अपनी सैन्य…

फेसबुक को पछाड़ने आया स्वदेशी Elyments सोशल मीडिया ऐप

फेसबुक को तगड़ी टक्कर देने के लिए स्वदेशी सोशल मीडिया ऐप Elyments लॉन्च हो गया है। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने…

अमेरिकन जूम ऐप को पछाड़ने आया जियो मीट वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप

कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान देश भर में लोकप्रिय हुए अमेरिकन ऐप को टक्कर देने के लिए भारतीय जियो मीट…

यूपी में एडवांस सेन्टर फॉर वायरस रिसर्च एण्ड थेरेप्यूटिक्स की स्थापना के लिए सीएम ने कसी कमर

मुख्यमंत्री @myogiadityanath ने उत्तर प्रदेश में बीएसएल-4 स्तर के एडवांस सेन्टर फॉर वायरस रिसर्च एण्ड थेरेप्यूटिक्स स्थापित किए जाने के…

चीनी एप टिकटॉक का विकल्प बन ट्रेंड करने लगा भारतीय ऐप चिंगारी, 30 लाख लोगों ने किया डाउनलोड

राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए सरकार द्वारा 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया, जिसमें टिक-टॉक भी शामिल है।…

आत्मनिर्भर भारत अभियान में देश में जलपोतों की मरम्मत सुविधाओं को मिलेगी मजबूती

चीन से तनातनी के बीच भारत ने देश में जलपोतों की मरम्मत सुविधाओं का विस्तार करने का फैसला किया है। जहाजरानी…

भारत का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान‘ महामारी से नहीं होगा प्रभावित: डॉ. जितेंद्र

केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारत के पहले मानव अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान‘ की शुरुआत कोविड महामारी से प्रभावित…

भारतीय इंजीनियर्स की इस खोज से आपके स्मार्ट विंडो, टच स्क्रीन, सोलर सेल की घट सकती है लागत

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभागके बेंगलुरु स्थित एक स्वायत्त संस्थान सेंटर फॉर नैनो एंड सॉफ्ट मैटर साइंसेज (सीईएनएस) के वैज्ञानिकों ने टीसीजी बनाने का एक नया तरीका विकसित किया है। इससे इसे बनाने का खर्च मौजूदा समय में इस्तेमाल में लाई जा रही टिन युक्त इंडियम ऑक्साइड (आईटीओ) तकनीक की तुलना में 80 प्रतिशत तक कम हो गया है। उनका यह काम मैटीरियल केमिस्ट्री और फिजिक्स जर्नल में प्रकाशित हुआ है। औद्योगिक रूप से प्रासंगिक टीसीजी सैकड़ों नैनोमीटर की मोटाई वाले टिन युक्त इंडियम ऑक्साइड (आईटीओ) जैसी कंडक्टिंग कोटिंग के साथ आया है, जहां विशेष रूप से खर्च उच्च गुणवत्ता वाली फिल्म्स के लिए अपनाए गए स्लो डिपॉजिशन रेट्स से जुड़ा होता है। नव निर्मित टीसीजी में मेटल ऑक्साइड के पतले ओवरलेयर के साथ ग्लास सब्सट्रेट पर धातु की जाली होती है। यह डिजाइन आकर्षक है क्योंकि हाइब्रिड इलेक्ट्रोड में धातु की जाली (करीब 5 ओम/स्क्वायर का शीट प्रतिरोध) का उत्कृष्ट संवाहक गुण होता है, जबकि कंडक्टिव ग्लास के लिए ऑक्साइड सतह दी गई है जो आईटीओ पर आधारित उद्योग की मौजूदा जरूरतों के हिसाब से है। प्रोफेसर जी यू कुलकर्णी की अगुआई वाली टीम ने सीईएनएस के अपने सह कर्मियों और औद्योगिक साझेदार हिंद हाई वैक्यूम (एचएचवी) प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर सस्ते टीसीजी के निर्माण के लिए सीईएनएस-अरकावती परिसर में डीएसटी-नैनोमिशन द्वारा वित्त पोषित एक अर्ध-स्वचालित उत्पादन संयंत्र स्थापित किया है। इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे सीईएनएस के वैज्ञानिक-सी डॉ. आशुतोष के. सिंह ने कहा, ‘हम टीसीजी के अनुप्रयोगों को प्रदर्शित करने के लिए इस पर आधारित पारदर्शी हीटर, पारदर्शी…

कोरोना महामारी की जांच के लिए बनाई स्वदेशी एनपी स्वैब, सीएसआईआर-नेशनल केमिकल लेबोरेटरी की बड़ी सफलता

वर्तमान महामारी परिदृश्य में नेजोफ्रियेंजल nasopharyngeal (NP) swabs की वैश्विक आपूर्ति भरोसेमंद नहीं है, जिसके परिणामस्वरूप आपूर्ति श्रृंखला में देरी,…