Nationalwheels

काव्य

राजेंद्र पालीवाल ने भी कविता के जरिए सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी

दुनियाभर में अमिट छाप छोड़ने वाली पूर्व विदेश मंत्री व भाजपा की दिग्गज नेता रहीं सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने…

आइये महसूस करिए जिंदगी के ताप को, मैं चमारों की गली तक ले चलूंगा आपको

आइये महसूस करिए जिंदगी के ताप को मैं चमारों की गली तक ले चलूंगा आपको। जिस गली में भुखमरी की…

अदम गोंडवी – कविता कोश

गज़ल को ले चलो अब गांव के दिलकश नजारों में, मुसलसल फ़न का दम घुटता है इन अदबी इदारों में…

मानव जाति का विकास या दुर्दिन”

लेखक ने व्यंग्य संग्रह की पहली रचना को लिफाफा शीर्षक दिया है। रचना की पहली पंक्ति है- सुना है लिफाफा…

जीवन में दुविधाएं – द्वन्द्व (एक संकलन)- अज्ञात।

आगे सफर था और पीछे हमसफर था.. रूकते तो सफर छूट जाता और चलते तो हमसफर छूट जाता.. मंजिल की…