Nationalwheels

संत कबीनगर में भाजपा सांसद ने अपने ही विधायक को जूतों से पीटा, हंगामा

संत कबीनगर में भाजपा सांसद ने अपने ही विधायक को जूतों से पीटा, हंगामा
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले के प्रभारी मंत्री और प्राविधिक चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन की मौजूदगी में भाजपा के सांसद और विधायक में जूत-म-पैजार हो गई. मंत्री आशुतोष टंडन उर्फ गोपाल जी की अध्यक्षता में चल रही योजना समिति की बैठक के दौरान ही भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी ने विधायक को जूतों से पीट दिया. इससे गुस्साए विधायक ने भी सांसद पर हाथ छोड़ दिया. इस घटना के बाद दिनभर विधायक समर्थकों ने सांसद के खिलाफ बवाल काटा.
बैठक के दौरान अधिकारियों ने बीच बचाव कर किसी तरह मामला शांत कराया लेकिन विधायक समर्थकों ने कलक्ट्रेट में जमकर नारेबाजी की. इस बीच सांसद करीब तीन घंटे तक कमरे में बैठे रहे. आरोप है कि गुस्साए समर्थकों ने तोड़फोड़ भी की. इसके बाद पुलिस के लाठीचार्ज में विधायक के दर्जनों समर्थक घायल हो गए.
बताते हैं कि सांसद शरद त्रिपाठी ने बैठक के दौरान पीडब्ल्यूडी प्रांतीय खंड के एक्सईएन एके दूबे से पूछा कि करमैनी-बेलौली बंधे के मरम्मत कार्य का शिलान्यास कल हुआ है. इसमें केवल विधायक का ही नाम क्यों है. क्या सांसद का नाम नहीं रह सकता. यह किस गाइडलाइन में है, मुझे बताएं.
इस पर एक्सईएन ने कहाकि गलती हो गई है, सुधार कर दिया जाएगा. इस बातचीत के दौरान ही मेहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल बीच में बोल पड़े और कहा कि जो पूछना है मुझसे पूछें, एक्सईएन से नहीं. इसे लेकर सांसद-विधायक में तू-तू, मैं-मैं शुरू हो गई.
सांसद ने कहाकि तुम्हारे जैसे तमाम विधायक मैंने देखे हैं. तुमसे क्या पूछना. देखते ही देखते अफसरों और कैबिनेट मंत्री की मौजूदगी में कलक्ट्रेट सभागार जंग का मैदान बन गया. गाली-गलौज शुरू हो गई. कैबिनेट मंत्री ने दोनों को रोकने की भी कोशिश की. इसी दौरान गुस्से से तमतमाए सांसद ने जूता निकाल विधायक पर हमला बोल दिया. जूता हाथ में लेकर सांसद ने विधायक राकेश सिंह बघेल को पीटना शुरू कर दिया.
विधायक ने भी सांसद पर हाथ चलाए. अधिकारियों ने किसी तरह इन्हें अलग किया. बात उस वक्त और गंभीर हो गई जबकि विधायक समर्थकों ने सांसद को घेर लिया, लेकिन एएसपी असित श्रीवास्तव व अन्य पुलिस कर्मियों तथा अधिकारियों ने किसी तरह बीच-बचाव किया.
विधायक को जूतों से पिटता देख कर गुस्साए समर्थकों ने कलेक्ट्रेट में नारेबाजी शुरू कर दी. पुलिस बल के पहुंचने के थोड़ी ही देर बाद कार्रवाई की मांग को लेकर विधायक समर्थकों ने कलेक्ट्रेट में तोड़फोड़ कर दी. माहौल शांत होने के पहले ही जिलाधिकारी रवीश गुप्त और पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने सांसद को कलेक्ट्रेट परिसर से सुरक्षित बाहर निकलवाया. बताते हैं कि कैबिनेट मंत्री ने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष को पूरी जानकारी दी है.
भाजपा सांसद ने जताया खेद
वहीं, घटना के बाद भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी ने कहा कि मुझे इस घटना पर खेद है और इसके लिए आहत हूं. जो कुछ हुआ वह मेरे सामान्य व्यवहार के खिलाफ था. अगर मुझे राज्य प्रमुख द्वारा बुलाया जाता है तो मैं अपनी बात रखूंगा.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *