Nationalwheels

भरतपुर-बांदीकुई रेलमार्ग भी विद्युतीकृत, 120kmph पर मिली अनुमति

भरतपुर-बांदीकुई रेलमार्ग भी विद्युतीकृत, 120kmph पर मिली अनुमति
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
आगरा को जयपुर से जोड़ने वाले रेलमार्ग का एक हिस्सा भरतपुर से बांदीकुई के मध्य विद्युतीकृत हो गया है. केंद्रीय रेल विद्युतीकरण संगठन की ओर से करीब 96 किलोमीटर की दूरी वाले इस सेक्शन का कार्य पूरा कर लिया है. 30 मार्च को रेल संरक्षा आयुक्त, मध्य एवं पूर्वोत्तर परिमंडल अरविन्द कुमार जैन ने इस रेलमार्ग पर विद्युतीकरण कार्य का निरीक्षण किया.
सीआरएस ने इसके साथ ही भरतपुर-बांदीकुई रेल सेक्शन पर 120 किमी प्रति घंटे की गति से ट्रॉयल भी लिया. ट्रॉयल को पूरी तरह सफल बताया गया है. सीआरएस के निरीक्षण के साथ ही इस सेक्शन पर जल्द ही इलेक्ट्रिक इंजिन वाली ट्रेनों का संचालन शुरू हो सकता है.

भरतपुर-बांदीकुई रेल सेक्शन में करीब 16 ट्रेनें संचालित की जा रही हैं. इसमें प्रयागराज से जयपुर तक चलने वाली सुपरफास्ट एक्सप्रेस भी है. रेलवे अफसरों के अनुसार सीआरएस निरीक्षण के बाद अब गुड्स ट्रेनों का संचालन फौरन शुरू किया जा सकता है. यात्री ट्रेनों का संचालन भी जल्द शुरू हो जाएगा. यह सेक्शन उत्तर मध्य रेलवे के आगरा डिवीजन का हिस्सा है.
गौरतलब है कि रेल संरक्षा आयुक्त, मध्य एवं पूर्वोत्तर परिमंडल अरविन्द कुमार जैन ने 29 मार्च, 2019 को इज्जतनगर मंडल के रेल खंड में मथुरा जं-मेण्डू के बीच विद्युतीकरण के पश्चात् विशेष निरीक्षण किया। इसके बाद श्री जैन ने मेण्डू से मथुरा जं. तक इलेक्ट्रिक इंजन से 115 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गति परीक्षण भी किया.
मथुरा जं.-मेण्डू रेल खंड की लम्बाई लगभग 48 किमी है. उन्होंने निरीक्षण के दौरान मथुरा जंक्शन, मथुरा छावनी, यमुना ब्रिज, मध्यवर्ती समपार संख्या 327 तथा मेण्डू स्टेशन पर स्थित ओएचई डिपो एवं इंजीनियरिंग गैंग का भी गहन निरीक्षण किया. मथुरा-कासगंज-कल्याणपुर रेल खंड 338 किमी के विद्युतीकरण का कार्य की स्वीकृति वर्ष-2016-17 के बजट में रु. 432.99 करोड़ की अनुमानित लागत से प्राप्त हुई थी. रेल विद्युतीकरण का कार्य मैसर्स इरकाॅन इन्टरनेशनल लिमिटेड को सौपा गया है, जिसमें मथुरा जं. से मेण्डू तक का विद्युतीकरण कार्य पूर्ण हो चुका है.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *