Nationalwheels

#BharatBand मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ वामदलों का प्रदर्शन, पश्चिम बंगाल में रोकीं ट्रेनें, बैंकों के नहीं खुले ताले

#BharatBand मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ वामदलों का प्रदर्शन, पश्चिम बंगाल में रोकीं ट्रेनें, बैंकों के नहीं खुले ताले

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ वामपंथी दलों और उससे जुड़े मजदूर और कर्मचारी संगठनों ने बुधवार को देशव्यापी प्रदर्शन किया है

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ वामपंथी दलों और उससे जुड़े मजदूर और कर्मचारी संगठनों ने बुधवार को देशव्यापी प्रदर्शन किया है. भारत बंद का पश्चिम बंगाल, केरल और तमिलनाडु में व्यापक असर बताया गया है. तीनों राज्यों में विपक्षी दलों ने एकजुटता दिखाते हुए सरकारी सेवाओं को बंद कराने का प्रयास किया है. पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में ट्रेनों को रोककर प्रदर्शन किया गया है. बंद में बैंक कर्मचारियों के भी शामिल होने के कारण ज्यादातर हिस्सों में बैंकिंग सेवा प्रभावित है. शाखाओं के नहीं खुलने से हजारों करोड़ रुपये की क्लीयरिंग भी प्रभावित हो रही है. जगह-जगह एटीएम में नगदी खत्म होने की भी सूचनाएं हैं. प्रदर्शन में ऑयल कंपनियों, बीमा सेक्टर, रेलवे के साथ ही छात्र संगठनों के भी शामिल होने से इन क्षेत्रों की सेवाएं भी प्रभावित हुई हैं.
प्रदर्शन में जेएनयू समेत कई विश्वविद्यालयों के वाम छात्र संगठन शामिल हैं. इनका आरोप है कि फीस वृद्धि के कारण गरीब छात्रों के लिए उच्च शिक्षा ग्रहण करना मुश्किल होगा. कर्मचारी संगठन फायदे वाले पीएसयू की बिक्री की खिलाफत कर रहे हैं. इंडियन ऑयल पाइप लाइन डिवीजन के कर्मचारी भी कामकाज छोड़कर बंद में शामिल हैं. आईओसी पाइप लाइन कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष राजकिशोर सिंह का कहना है कि सरकार फायदे वाले पीएसयू को बेचकर पूंजी जुटाना चाह रही है. इससे लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार होंगे. निजी कंपनियां खरीदी गई कंपनियों को चलाएंगी या नहीं, यह तय नहीं हैं.

(पश्चिम बंगाल के 24 परगना में ट्रेन रोकते बंद समर्थक. सभी तस्वीरें एएनआई से साभार.)

कर्मचारी संगठनों का आरोप है कि सरकार निजी क्षेत्र को बढ़ावा दे रही है. कर्मचारियों की पेंशन संबंधी मांगों को भी इसमें उठाया गया है. किसानों की जमीन अधिग्रहण, खाद, बीज, पानी की उपलब्धता और आय में बढ़ोत्तरी जैसे मुद्दे भी प्रदर्शन में उठाए गए हैं.
केरल में प्रदर्शन करने निकले वामपंथी कार्यकर्ताओं ने लाल लुंगी और लाल टोपी पहनकर वेशभूषा का भी प्रदर्शन किया है. ज्यादातर जगहों पर लाल झंटे के साथ कर्मचारियों और मजदूर संगठनों ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया है. तमिलनाडु में भी कई दलों ने संयुक्त रूप से प्रदर्शन किया है.

 


Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *