Nationalwheels

अयोध्या: सुग्रीव किला पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामानुजाचार्य पूज्य पुरुषोत्तमाचार्य ने शरीर छोड़

अयोध्या: सुग्रीव किला पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामानुजाचार्य पूज्य पुरुषोत्तमाचार्य ने शरीर छोड़
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
अयोध्या: जगद्गुरु रामानुजाचार्य सुग्रीव किला पीठाधीश्वर पूज्य पुरुषोत्तमाचार्य ने शरीर छोड़ दिया है. विश्व हिंदू परिषद ने श्रीराम जन्मभूमि न्यास सदस्य और केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल के वरिष्ठ सदस्य पूज्य पुरुषोत्तमाचार्य के निधन को सामाजिक धार्मिक एवं सांस्कृतिक जीवन मूल्यों की क्षति बताया है.
श्रीराम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष मणिराम दास छावनी महंत नृत्य गोपाल दास महाराज ने जगद्गुरु पुरुषोत्तमाचार्य जी को धार्मिक जीवन मूल्यों को संरक्षण प्रदान करने वाला कर्मयोगी बताया. उन्होंने कहा महाराज श्री का संपूर्ण जीवन समाज के लिए अनुकरणीय रहा पूज्यपाद देवराहा बाबा की छवि उनमें विराजमान थी उनका साकेतवास अयोध्याधाम सहित सम्पूर्ण धार्मिक जगत के लिए क्षति है.
विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष चम्पतराय ने जगतगुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तम आचार्य को लोक कल्याणकारी तथा सामाजिक उत्थान के प्रति संवेदनशील बताया और कहा श्री राम जन्मभूमि आंदोलन के एक और मार्गदर्शक का अवसान संगठन के लिए क्षति है.
विहिप के केंद्रीय सलाहकार समिति के सदस्य पुरुषोत्तम नारायण सिंह ने अपनी संवेदना प्रकट करते हुए कहा किक पूज्यपाद महाराजश्री सदैव श्रीराम जन्मभूमि और अयोध्या के धार्मिक संरक्षण संवर्धन के प्रति सजग रहे वह राम जन्मभूमि न्यास के सदस्य और केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल के भी सदस्य रहे संगठन को उनका आशीर्वाद सदैव प्राप्त होता रहा उनका साकेतवास हम सब के लिए दुखद है.
विश्व हिंदू परिषद प्रवक्ता शरद शर्मा ने कहा बाल्यकाल से उनका स्नेहपूर्ण आशीर्वाद प्राप्त हुआ वह स्मरणीय बना रहेगा. विहिप की अयोध्या स्थापना और 1984 मे श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन में उनके मठ और महाराज श्री की केन्द्रीत भूमिका को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है. वह संगठन के प्रति सदैव हर प्रकार से समर्पित रहे। आंदोलन के साथ शान्तिपूर्ण प्रदर्शन के अनुगामी बनकर उन्होंने सदैव हिन्दुओ का मार्ग दर्शन किया. सामाजिक, धार्मिक एवं सांस्कृतिक जीवन मूल्यों के प्रति निष्ठावान जीवन हम सभी के लिए प्रेरणादायी बना रहेगा.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *