Nationalwheels

आर्याकुलम में बही गीतों की बहार, झूमे कवि और श्रोता

आर्याकुलम में बही गीतों की बहार, झूमे कवि और श्रोता
न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
नैनी के आर्याकुलम में आयोजित होली मिलन एवं कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया. बतौर मुख्य अतिथि काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलाधिपति गिरधर मालवीय ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा की पूर्ति एवं भारतीय संस्कृति के मानकों के अनुसार सर्वागीण विकास के लिए खोला गया यह विद्यालय प्रयागराज के लिए मील का पत्थर साबित होगा. आर्याकुलम के निदेशक डॉक्टर दिलीप चौरसिया ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि आने वाली पीढ़ी के लिए इस विद्यालय की स्थापना की गई. आज का कार्यक्रम बच्चों के सर्वागीण विकास के लिए एवं अनेकता में एकता की संस्कृति को कायम रखने हेतु प्रेम भाई-चारा आपसी सद्भावना हेतु आहूत किया गया है.
उन्होंने कहा कि बच्चों के अंदर संस्कार, शिक्षा ,भाषा का विकास, उत्कृष्ट लेखन, खेलकूद, योगा सहित संपूर्ण मानवीय बिंदुओं को ध्यान रखते हुए विद्यालय की स्थापना की गई है. निदेशक डॉ विदुला दिलीप ने कहा कि विद्यालय की स्थापना के प्रति हमारी विचारधारा है कि हम बच्चों के अंदर एक अच्छे संस्कार अपनी संस्कृति और नैतिक मूल्यों को जीवित कर सकें. विद्यालय से जब बच्चे निकले तो अपने शहर का नाम रोशन कर सकें.
डॉ विदुला दिलीप ने अपनी कविताओं से श्रोताओं को आह्लादित किया. उन्होंने कविता- दूर ही सही एक रिश्ता कायम करो, मेरे ख्यालों की तरह ख्वाबों में भी आया करो, सुनाकर श्रोताओं को भावविभोर कर दिया.
कवि सम्मेलन का शुभारंभ वाणी वंदना के साथ प्रीता बाजपेई ने किया. उन्होंने अपनी पंक्तियां पढ़ीं- जब जब तुमने दर्द दिया एक गीत लिखा मैंने, अश्कों की लड़ियों से फिर संगीत लिखा मैंने. हसबैंड के प्रखर हस्ताक्षर अखिलेश द्विवेदी ने श्रोताओं को जमकर हंसाया- प्यार बहुत दुख देता है, पर प्यार सभी करना चाहे, अनुमानों के तम पथ पर ही, सब आगे बढ़ना चाहें.
डॉ अभा श्रीवास्तव ने अपनी पंक्तियों-समय की यह जरूरत है उबलता छंद बन जाओ, समय का गीत तुम ही हो, समय का द्वंद बन जाओ, यह दुनिया हो रही बर्बाद भारत एक आशा है, उठो जागो जवानों तुम विवेकानंद बन जाओ, से श्रोताओं को मंत्र मुग्ध किया.

डॉक्टर राजेंद्र राज प्रतापगढ़ी, युवा कवि अमित जौनपुरी ने भी कविताएं पढीं. संचालन कर रहे गीतकार शैलेंद्र मधुर ने अपनी रचनाओं से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया. उन्होंने आर्याकुलम का है परिवार सब मिले होली, दे रही जनता खूब प्यार, सब मिले होली, सुनाई. योगेश झमाझम हास्य कवि ने अपनी रचनाओं से लोगों को भरपूर गुदगुदाया.  शायर मखदुम फूलपुरी ने अपनी रचनाओं से कौमी एकता का संदेश दिया. कवि सम्मेलन में जितेंद्र मिश्रा, जलज सहित अन्य रचनाकारों ने काव्य पाठ कर श्रोताओं का दिल जीत लिया. धन्यवाद ज्ञापन डॉक्टर विदुला दिलीप ने किया.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *