600 कत्ल करने वाली ये सीरियल किलर कुंवारी लड़कियों के खून से करती थी स्नान

संसार में सीरियल किलिंग के तमाम मामले इतिहास में दर्ज हैं लेकिन कातिलों की इस सूची में महिलाओं की संख्या गिनती में है. इनमें से भी ऐसी महिला सीरियल किलर जिसका नाम सुनते ही रोंगटा खड़ा हो जाए. शरीर में सिहरन उठने लगे, वह तो गिनती की ही हैं. इन्हीं में से एक सीरियल किलर थीं एलिजाबेथ बाथरी, जो हमेशा जवान बने रहने के लिए तरह-तरह के नुक्शे आजमाती थी. इन्हीं में से उसका एक शौक था कुंवारी लड़कियों के खून से स्नान करना.

हाई प्रोफाइल सीरियल किलर
सीरियल किलर एलिजाबेथ की खौफनाक दास्तां लगभग 400 साल पुरानी है. अब तक मिले दस्तावेजों और कहानियों के अनुसार वो बहुत ही हाई प्रोफाइल महिला थी. इतिहास के पन्नों में दर्ज उसकी खूनी कहानी के मुताबिक हंगरी साम्राज्य की उस सीरियल किलर ने 1585 से 1610 के बीच अपने महल में करीब 600 से ज्‍यादा लड़कियों को मौत के घाट उतारा था.
एलिजाबेथ बाथरी को जाने कहां से पता चला था कि यदि वो कुंवारी लड़कियों के खून से नहाएगी तो जिंदगीभर जवान और खूबसूरत बनी रहेगी. बस उसके इसी लालच ने उसे ऐसा कातिल बना दिया कि वो मौत का दूसरा पर्याय बन गई. एलिजाबेथ अपनी जवानी को बरकरार रखने के लिए कुंवारी लड़कियों का कत्ल करती थी और फिर उनके खून से नहाती थी.

कत्ल से पहले करती दरिंदगी
अपने शिकार को एलिजाबेथ तड़पा-तड़पाकर मारती थी. वो लड़कियों की हत्‍या से पहले उनके साथ काफी अत्याचार करती थी. वो इस हद तक हैवान बन जाती थी कि उन लड़कियों के नाजुक अंगों को जला दिया करती थी. इस काम में उसके नौकर भी उसका साथ दिया करते थे.
महल से मिले थे नरकंकाल
दस्तावेजों के मुताबिक एलिजाबेथ ने अपने नौकरों के साथ मिलकर करीब 650 लड़कियों की निर्मम हत्‍या की थी. उसके महल से कई लड़कियों के कंकाल और सोने-चांदी के आभूषण बरामद किए गए थे. 1610 में हंगरी के राजा के आदेश के बाद उसे तीन नौकरों के साथ गिरफ्तार किया गया था.

महल में कैद में मौत
महल से ताल्लुक रखने की वजह से उसे महल में ही कैद कर दिया गया था. सजा मिलने के करीब चार साल बाद 1614 में उसकी मौत हो गई थी. एलिजाबेथ के जीवन पर कई किताबें लिखी जा चुकी हैं. यहां तक कि उस पर फिल्‍में भी बनाई गई हैं.
गांव की लड़कियां बनी शिकार
उपन्‍यासकार ब्राम स्‍टोकर का ड्रैकुला उपन्यास एलिजाबेथ के जीवन पर ही आधारित माना जाता है. एलिजाबेथ की शादी फेरेंक नैडेस्‍डी नाम के शख्‍स से हुई थी. बताया जाता है कि उस खूंखार लेडी सीरियल किलर के निशाने पर ज्यादातर गांव की भोली लड़कियां होती थीं. वो उन्हें पहले फुसलाती, फिर आसानी से अपना शिकार बना लेती थी. उसकी खौफनाक दास्तान सदियों तक इतिहास में काले धब्बे की तरह जानी जाएगी.

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

NationalWheels will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.