आचार संहिता के बाद से 539.992 करोड़ पर लगा ताला, कारोबारी परेशान

न्यूज डेस्क, नेशनलव्हील्स
आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से निर्वाचन आयोग की निगरानी में चल रही जांच के दौरान देशभर में नगदी और दूसरे सामान लेकर चलना मुश्किल हो गया है. आयोग ने जानकारी दी है कि अब तक नगदी समेत विभिन्न किस्म की धातुओं को मिलाकर 539.992 करोड़ रुपये सीज किए गए हैं. इसमें नगदी 143.47 करोड़ रुपये है तो 162.93 करोड़ रुपये की धातु है. धातुओं में सर्वाधिक मात्रा सोना की बताई जा रही है.

गौरतलब है कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद निर्वाचन आयोग चुनाव में इस्तेमाल होने वाले कालेधन की रोकथाम या अघोषित रकम पर निगरानी रखने के लिए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन समेत राज्यों और जनपदों की सीमाओं पर निगरानी रखता है. सुरक्षा बलों की टीमें कैमरे की निगरानी में जांच अभियान चला रही हैं.
25 मार्च 2019 तक देश के विभिन्न हिस्सों से 143.47 करोड़ रुपये की नगदी पकड़ी जा चुकी है. निर्वाचन आयोग का दावा है कि जो भी सीजर की कार्रवाई की गई है उसमें पकड़े गए सामान, धातुओं और नगदी को लेकर चलने वाले लोग उससे जुड़े जरूरी कागजात नहीं दिखा सके. जो भी प्रकरण अब तक सामने आए हैं ज्यादातर मामलों में आयकर विभाग ने जांच भी शुरू कर दी है.
बरामदगी में 131.75 करोड़ रुपये के ड्रग और नारकोटिक्स हैं. 89.64 करोड़ रुपये की अवैध शराब भी पकड़ी जा चुकी है. आशंका जताई जा रही है कि इस शराब का वितरण चुनाव के दौरान मतदाताओं को रिझाने के लिए किया जाता.
फिलहाल, चुनाव आयोग की सख्ती के कारण कारोबारियों पर बुरा असर पड़ा है. ज्यादातर कारोबारी नगदी के साथ ही खरीद के लिए निकलते हैं. बैंक या डिजिटल प्रणाली से भुगतान में उनकी कर चोरी पकड़े जाने का खतरा बना रहता है. इससे यह भी साफ हुआ है कि बाजार में बड़ी मात्रा में नगदी का अवैध लेनदेन का खेल नोटबंदी के बाद भी जारी है.

 

Nationalwheels India News YouTube channel is now active. Please subscribe here

(आप हमें फेसबुकट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

NationalWheels will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.