National Wheels

सरयू एक्सप्रेस को गोण्डा तक चलाने की उठी आवाज

सरयू एक्सप्रेस को गोण्डा तक चलाने की उठी आवाज

गोण्डा। पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्रीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में सरयू  एक्सप्रेस को गोण्डा तक चलाने की मांग उठी। वरिष्ठ सदस्य पंकज कुमार श्रीवास्तव ने पूर्वोत्तर रेलवे एवं देवीपाटन मण्डल के अन्तर्गत गोण्डा जंक्शन से सम्बन्धित जन समस्याओं के निराकरण के लिए महाप्रबन्धक पूर्वोत्तर रेलवे को 20 सूत्रीय सुझाव पत्र सौपे।

जेडआरयूसीसी पंकज कुमार श्रीवास्तव ने महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे को दिये पत्र में बताया है कि जनमानस की सुविधा के लिए सरयू एक्सप्रेस जो मनकापुर से प्रयागराज एवं प्रयागराज से मनकापुर तक आती जाती है, उसका विस्तार गोण्डा जंक्शन तक किये जाए। बहराइच से वाराणसी के बीच चलने वाली इण्टरसिटी एक्सप्रेस का ठहराव शिवदयालगंज कटरा करते हुए अविलम्ब संचालन शुरू कराया जाए। गोण्डा से कानपुर तक वाया बाराबंकी, लखनऊ मेमो/पैसेन्जर ट्रेन का संचालन शुरू करने, गोण्डा से नई दिल्ली एवं नई दिल्ली से गोण्डा तक एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू किये जाने, 12569/12570 इण्टरसिटी एक्सप्रेस का ठहराव इटियाथोक, जरवल रोड एवं बुढ़वल जंक्शन पर किये जाने, गोण्डा कचेहरी रेलवे स्टेशन का नाम अमर शहीद राजेन्द्र नाथ लाहिड़ी के नाम किये जाने, अधिवक्ताओं, व्यापारियों, कर्मचारियों एवं छात्र/छात्राओं की सुविधा हेतु बाघ एक्सप्रेस एवं आम्रपाली एक्सप्रेस/मेल का ठहराव गोण्डा कचेहरी रेलवे स्टेशन पर करने, मैलानी जंक्शन से लखनऊ जंक्शन के बीच रेल यात्रियों की सुविधा हेतु इण्टरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन शुरू कराये जाने, 15009/15010 का ठहराव यात्रियों की सुविधा के लिए मोहीबुल्लापुर रेलवे स्टेशन पर किये जाने, गोण्डा जंक्शन परिसर में रेलवे की खाली पड़ी जमीनों पर अतिक्रमण हटाने व रेलवे आवासों में निवास कर रहे बाहरी व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई किये जाने, गोण्डा जंक्शन पर पुराने माल गोदाम पर चल रहे यात्री प्लेटफार्म का निर्माण शीघ्र पूरा कराया जाए, मनकापुर जंक्शन स्टेशन पर बाघ, अमरनाथ एवं गोरखधाम एक्सप्रेस का ठहराव किया जाने की मांग की गई।

गोण्डा रेलवे चिकित्सालय में डाक्टरों एवं दवाइयों का अभाव है। रेल कर्मचारियों की सुविधा हेतु डाक्टरों की नियुक्ति करते हुए रेल द्वारा निर्धारित अच्छी कम्पनी की दवाईयां उपलब्ध करायी जायें, रेल आवासों की खराब स्थिति के कारण कई घटनाएं घट रही हैं, कहीं छत गिर गई है तो कई मकानों पर दीवारों पर दरार आ गयी है। रेलवे कर्मचारियों के लिए निर्मित लगभग 1700 आवासीय स्थल एवं सड़क स्थानीय निर्माण, इंजीनियरिंग एवं प्रकाश विभाग में कार्यरत उदासीन रेल अधिकारियों एवं वर्षाें से तैनात कर्मचारियों की उदासीनता के कारण जर्जर एवं खराब स्थिति में हो गये हैं इसे सुधारा जाए।

गोण्डा, करनैलगंज, इटियाथोक, बभनान, मसकनवा, मनकापुर समेत कई स्थानों पर रेलवे की जमीनों एवं कालोनियों पर बाहरी व्यक्तियों का कब्जा है। कब्जेदारों को हटाकर व्यवसायिक केन्द्र बनाकर सेवानिवृत्त रेल कर्मियों के आश्रितों को आवंटित किये जाने, करनैलगंज रेलवे स्टेशन पर साप्ताहिक गाड़ी संख्या 11112/11111 सुशासन एक्सप्रेस का ठहराव किये जाने, पूर्वोत्तर रेलवे के अन्तर्गत रेलवे स्टेशन की ओर आने जाने वाली सभी जर्जर सड़कों को सही किये जाने, गोण्डा जंक्शन रेलवे परिक्षेत्र में प्रकाश व्यवस्था शुन्य है।

रेलवे प्रकाश विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी अपने कार्य के प्रति गम्भीर नहीं हैं। जिससे आमजनमानस को समय-समय पर असुविधा होने के साथ-साथ होने वाली अप्रिय घटनाओं को रोकने, गोण्डा जंक्शन रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नम्बर 4, 5 की ओर एक यात्री टिकट सेवा केन्द्र स्थापित किये जाने समेत अन्य कई सुझाव देकर महाप्रबन्धक पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर सहित सम्बन्धित जोनल एवं मण्डल के रेलवे अधिकारियों को आहूत बैठक में अवगत कराया। उप महाप्रबन्धक केसी सिंह ने बैठक का संचालन करते हुये आभार जताया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.